फीचर न्यूज़

टी-20 वर्ल्ड कप के बाद 7 महीने तक बिजी रहेगी टीम इंडिया देखिए पूरा शेड्यूल

टी-20 वर्ल्ड कप के बाद 7 महीने तक बिजी रहेगी टीम इंडिया, देखिए पूरा शेड्यूल

टी20 वर्ल्ड कप के बाद भारतीय क्रिकेट टीम का शेड्यूल पूरी तरह से व्यस्त रहेगा। भारतीय टीम सात महीने में चार देशों की मेजबानी करेगी। BCCI ने टीम इंडिया के इंटरनेशनल घरेलू सीरीज का शेड्यूल जारी किया।

हैप्पी इंजिनियर्स डे  पढ़िए आखिर क्यों मनाया जाता हैं ये दिन

हैप्पी इंजिनियर्स डे : पढ़िए आखिर क्यों मनाया जाता हैं ये दिन

वेब ख़बरिस्तान। हर साल इंजिनियर्स डे भारत में 15 सितंबर को मनाया जाता है। इस दिन भारत के महान अभियंता और भारत रत्न मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया का जन्मदिन होता है।


World Suicide Prevention Day 2021: हर 40 सेकेंड में एक व्यक्ति आत्महत्या कर रहा है

World Suicide Prevention Day 2021: हर 40 सेकेंड में एक व्यक्ति आत्महत्या कर रहा है

तेजी से बढ़ती आत्महत्या की प्रवृत्ति पर रोक लगाना मकसद इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर सुसाइड प्रिवेंशन विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस का आयोजन करती है। उद्देश्य विश्व में तेजी से बढ़ती आत्महत्या की प्रवृत्ति पर रोक लगाना है। बढ़ते अवसाद के कारण भी लोग आत्महत्या कर लेते हैं। पिछले कुछ सालों में भारत व दुनिया भर में खुदकुशी की घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं। हर साल 8 लाख लोग मौत को गले लगाते हैं विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि डब्ल्यूएचओ के मुताबिक़ हर साल लगभग 8 लाख से अधिक लोग विभिन्न कारणों के चलते मौत को गले लगा लेते हैं। ये स्थिति वैसे तो काफी डरावनी है और चिंता का विषय भी है। विश्व में 79 फीसद आत्महत्या निम्न और मध्यवर्ग वाले देशों के लोग करते हैं। मानसिक तनाव से जूझ रहे लोग बना लेते हैं दूरी कोई भी इंसान मानसिक तनाव से जूझ रहा होता है तो उसके व्यवहार में बदलाव देखा जा सकता है। ऐसे लोग और लोगों से दूरी बना लेते हैं। खासकर अकेलेपन के साथी हो जाते हैं। छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा, इसका एक उदाहरण हो सकता है। इन तरीकों से करें बचाव अवसाद से बचाव के लिए आप ज्यादा से ज्यादा लोगों के बीच रहें। अगर घर में कोई सदस्य इस समस्या से जूझ रहा है तो उस पर नकारात्मक प्रतिक्रिया ना दें। परिवार के साथ बैठकर परेशानी का हल निकालें। गुस्से पर काबू रखें और अपने आप को खुश रखने की कोशिश करें।

https://webkhabristan.com/feature-news/world-suicide-prevention-day-2021-one-person-commits-suicide-every-40-seconds-3707
5 सितंबर को क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस, पढ़िए इसके पीछे की दिलचस्प कहानी

5 सितंबर को क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस, पढ़िए इसके पीछे की दिलचस्प कहानी

डॉ. राधाकृष्णन की थी ये इच्छा डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के मन में ये ख्याल आया था कि वे अपने जन्मदिन को शिक्षकों के योगदान और समर्पण के सम्मान के तौर पर मनाएं और तभी से उनकी इच्छा को पूरा करते हुए पांच सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। डॉ. राधाकृष्णन ने छात्रवृत्तियों की मदद से पूरी की पढाई डॉ. राधाकृष्णन का जन्म पांच सितंबर 1888 को आंध्र प्रदेश के तिरुमनी गांव में हुआ था। वे शुरुआत से ही होनहार छात्र थे। उन्होंने अपनी पढ़ाई छात्रवृत्तियों की मदद से पूरी की। आगे चलकर उन्होंने अपनी पहचान एक महान शिक्षक के रूप में बनाई। 5 सितंबर को ही शिक्षक दिवस क्यों? जब डॉ. राधाकृष्णन राष्ट्रपति बने तो उनके छात्रों ने उनके जन्मदिन का आयोजन करने के लिए कहा। तब डॉ.राधाकृष्णन ने कहा कि अगर आप इस दिन को शिक्षकों द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए गए योगदान और समर्पण को सम्मानित करते हुए मनाएं, तो मुझे ज्यादा खुशी होगी। जब छात्रों ने फूलों के साथ तैयार की डॉ. राधाकृष्णन के लिए कार डॉ. राधाकृष्णन मद्रास प्रेसीडेंसी कॉलेज में दर्शनशास्त्र पढ़ाते थे। तभी उनको कोलकाता विवि में प्रोफेसर बनने का मौका मिला। जब वे कॉलेज छोड़ रहे थे, तो उनके छात्रों ने फूलों के साथ एक गाड़ी तैयार की और उसी से अपने चहेते शिक्षक को मैसूर विश्वविद्यालय से रेलवे स्टेशन तक ले गए। शिक्षा के क्षेत्र में उनका योगदान और सम्मान 1939 में उन्हें ब्रिटिश अकादमी का फेलो चुना गया। शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए 1954 में भारत रत्न, 1963 में ब्रिटिश ऑर्डर ऑफ मेरिट से सम्मानित किया गया। 17 अप्रैल 1975 को उनका निधन हो गया। उन्हें 11 बार नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित किया जा चुका है।

https://webkhabristan.com/feature-news/why-teachers-day-is-celebrated-on-5th-september-read-the-interesting-story--3620
ऐतिहासिक जलियांवाला बाग का नया स्वरूप, देखिये तस्वीरों के जरिये

ऐतिहासिक जलियांवाला बाग का नया स्वरूप, देखिये तस्वीरों के जरिये

एंट्रेंस पर हंसते खेलते लोग दिखाई देंगे एंट्रेंस पर खूबसूरत हंसते-खेलते लोग दिखाए गए हैं। दरवाजा उन शहीदों को समर्पित किया गया है जो 13 अप्रैल 1919 को बैसाखी वाले दिन हंसते हुए अपने परिवार के साथ जलियांवाला बाग में पहुंचे थे। शहीदों से संबंधित दस्तावेज में पढ़ सकेंगे वीरता के किस्से नरसंहार और शहीदों को समर्पित तीन गैलरियों का निर्माण किया गया है। गैलरी में शहीदों से संबंधित दस्तावेज रखे गए हैं ताकि शहीदों को दी जाने वाली यातनाओं और वीरता के किस्से लोग देखें और पढ़ें। ब्रिटिश राज के क्रूर कामों के बारे में बताया एक अन्य गैलरी बुलेट मार्क लगी गैलरी के साथ बनाई गई है। यहाँ इस नरसंहार के बाद ब्रिटिश राज में क्या-क्या हुआ और डायर को अंग्रेजों ने कैसे बचाया आदि ब्रिटिश राज के क्रूर कामों के बारे में बताया है। कुएं की गहराई को देख सकेंगे जब ये जघन्य हत्याकांड हुआ था, तब कुआं खुला होता था। इंदिरा गांधी के समय रेनोवेट हुए इस पार्क में तब कुएं पर छत बनाई गई थी। लेकिन अब कुएं के चारों ओर गैलरी बनाई है और सुरक्षा के लिए कांच लगाया गया है, ताकि कुएं को गहराई तक देखा जा सकता है। शहीदी लाट को घंटों बैठे निहारते रह जायेंगे शहीदी लाट के आसपास सुंदर पार्क बनाया है कि लोग घंटों बैठकर इसकी खूबसूरती को निहार सकते है। लाट के आगे लगे फव्वारों की जगह पानी भरा गया है और उसमें पानी पर तैरने वाले फूल पत्ते लगाए गए हैं। गोलियों वाली दीवार के आगे लगाई रेलिंग वो दीवार जिस पर गोलियों के निशान आज भी हैं, ताकि युवा पीढ़ी उस समय मारे गए लोगों के दुख दर्द को समझ सके। इसे संरक्षित करने के लिए दीवार के आगे रेलिंग लगा दी गई है।

https://webkhabristan.com/feature-news/the-new-look-of-the-historic-jallianwala-bagh-see-through-pictures-3496
Bigg Boss OTT: Shamita Shetty से दिव्या अग्रवाल तक जानें कंटेस्टेंट की फीस

Bigg Boss OTT: Shamita Shetty से दिव्या अग्रवाल तक जानें कंटेस्टेंट की फीस

उर्फी जावेद बिग बॉस ओटीटी से उर्फी जावेद रविवार रात एलिमिनेट हो गईं हैं। वो शो की सबसे हॉट कंटेस्टेंट के तौर पर जानी जाती थीं। इस शो के लिए वो मोटी रकम वसूल करती थी, उर्फी शो में 2.75 लाख हर हफ्ते के लेती थी। शमिता शेट्टी शिल्पा शेट्टी की बहन शमिता शेट्टी का बिग बॉस में आना हर किसो को हैरान कर गया। क्योंकि उनके जीजा राज कुंद्रा पॉर्न फिल्मों के आरोप में जेल में हैं। ऐसे में शमिता आपका मनोरंजन करने के लिए 3.75 लाख हफ्ते के लेती हैं। दिव्या अग्रवाल एमटीवी के कई शो में नजर आने वाली दिव्या अग्रवाल अपने लव अफेयर को लेकर मशहूर रही हैं और उनकी और शमिता की दोस्ती व लड़ाई बिग बॉस में चर्चा का विषय बनी हुई है। वह हर हफ्ते के 2 लाख रुपये लेती हैं। रिद्धिमा पंडित बहू हमारी रजनी कांत फेम रिद्धिमा पंडित बिग बॉस ओटीटी में बेहतरीन प्रदर्शन कर रही हैं। उनकी हाल ही में हुई लड़ाई में लोगों ने उनका ही साथ दिया है। इस शो से एक हफ्ते में रिद्धिमा पंडित 5 लाख रुपए कमा लेती हैं। मिलिंद गाबा पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री के जानेमाने गायक मिलिंद गाबा बिग बॉस ओटीटी में एक हफ्ते के 1.75 लाख रुपए वसूल रहे हैं। हालांकि शो में अभी तक उन्होंने कुछ खास कमाल नहीं दिखाया है। मुस्कान जट्टाना मुस्कान जट्टाना एक सोशल मीडिया इनफ्लुएंसर हैं। छोटी उम्र से कॉन्ट्रोवर्सी से उनका रिश्ता रहा है। उन्हें बिग बॉस ओटीटी में एक हफ्ते के 1.75 लाख रुपए दिए जाते हैं। नेहा भसीन बॉलीवुड की नामी सिंगर नेहा भसीन ‌भी शो में अच्छा प्रर्दशन कर रही हैं। लोग उन्हें पसंद भी कर रहे हैं। नेहा एक हफ्ते के 2 लाख रुपए फीस लेती हैं। निशांत भट्ट जानेमाने कोरियोग्राफर निशांत भट्ट को बिग बॉस ओटीटी से एक हफ्ते के 1.2 लाख रुपए मिलते हैं। हाल ही में उनके ऊपर शमिता शेट्टी ने इल्जाम लगाया था कि एक शूटिंग के दौरान निशांत ने उन्हें अनकंपयरेबल फील करवाया था।

https://webkhabristan.com/feature-news/bigg-boss-ott-from-shamita-shetty-to-divya-aggarwal-know-the-contestant-fees-3335
अफगानिस्तान-तालिबान विवाद में इस्लामिक देश किसके पक्ष में खड़े हैं? जानिए

अफगानिस्तान-तालिबान विवाद में इस्लामिक देश किसके पक्ष में खड़े हैं? जानिए

अफगान संकट पर पाकिस्तान का रुख पाकिस्तान- अफगानिस्तान विवाद में पाकिस्तान को पड़ोसी के तौर पर देखा जाता है। प्रधानमंत्री इमरान खान के मुताबिक, अफगानिस्तान में उनका कोई पसंदीदा नहीं है। पाकिस्तान में 30 लाख अफगान शरणार्थी रहते हैं और दोनों देशों के बीच ढाई हजार किलोमीटर लंबी सीमा है। कतर मुस्लिम दुनिया का छोटा सा देश कतर अफगान विवाद में अहम भूमिका निभा रहा है। तालिबान का सियासी दफ्तर कतर में है। अमेरिकी समर्थक देश कतर ने अपनी जमीन पर तालिबान को अमेरिका से बातचीत के लिए ठिकाना और सियासी सुविधाएं उपलब्ध करवाई हैं। सऊदी अरब इस्लामिक दुनिया का सबसे अहम सुन्नी बाहुल्य मुल्क सऊदी अरब अफगानिस्तान के मुद्दे पर खामोश है। सऊदी अरब के अफगानिस्तान और पाकिस्तान दोनों के साथ ऐतिहासिक संबंध रहे हैं। सऊदी अरब ने तालिबान से भी संबंध बना रखा है। संयुक्त अरब अमीरात सऊदी अरब की तर्ज पर संयुक्त अरब अमीरात भी इस मसले पर चुप्पी बनाए हुए है। इस मुद्दे पर संयुक्त अरब अमीरात ने कुछ भी नहीं कहा है। उसने अफगान विवाद से दूरी बना रखी है। ईरान अफगानिस्तान में तालिबान की बढ़ती ताकत ने शिया बाहुल्य पड़ोसी देश ईरान की चिंता बढ़ा दी है। ईरान ने तालिबान से काबुल और हेरात में मौजूद दूतावास के कर्मचारियों की सुरक्षा की गारंटी मांगी है। तुर्केमिनिस्तान तुर्केमिनिस्तान ने तालिबान से संबंध को मजबूत करने की कोशिश की है। सीमा पर तालिबान का नियंत्रण होते ही तुर्केमिनिस्तान ने तालिबान नेताओं को बातचीत के लिए बुलाया था। तुर्की अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी के बाद भी तुर्की ने हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की सुरक्षा करने का इरादा जताया है। हालांकि, तुर्की के इरादे का तालिबान समर्थन नहीं करता है और उसने तुर्की को काबुल एयरपोर्ट पर सेना नहीं भेजने की चेतावनी दी है।

https://webkhabristan.com/feature-news/on-whose-side-do-islamic-countries-stand-in-the-afghanistan-taliban-dispute-3269
15 August 1947 को भारत को मिली आजादी, लेकिन उस से 60 दिन पहले क्या हुआ? पढ़ें इस खबर में

15 August 1947 को भारत को मिली आजादी, लेकिन उस से 60 दिन पहले क्या हुआ? पढ़ें इस खबर में

दूसरे विश्व युद्ध के बाद ब्रिटेन का हुआ खस्ताहाल 1946 में ब्रिटेन की लेबर पार्टी की सरकार का राजकोष, हाल ही में खत्म हुए दूसरे विश्व युद्ध के बाद खस्ताहाल था। तब उन्हें एहसास हुआ कि न तो उनके पास घर पर जनादेश था और ना ही अंतरराष्ट्रीय समर्थन। इसलिए वे तेजी से बेचैन होते भारत को नियंत्रित करने के लिए देसी बलों की विश्वसनीयता भी खोते जा रहे थे। कांग्रेस और मुस्लिम लीग के बीच विवाद फरवरी 1947 में प्रधानमंत्री क्लीमेंट एटली ने घोषणा की कि ब्रिटिश सरकार जून 1948 से ब्रिटिश भारत को पूरी तरह से सेल्फ-रूल का अधिकार देगी। फिर आखिरी वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन ने सत्ता हस्तांतरण की तारीख को आगे बढ़ा दिया चूंकि उन्हें लगा कि कांग्रेस और मुस्लिम लीग के बीच लगातार विवाद के कारण अंतरिम सरकार का पतन हो सकता है। ब्रिटिश भारत को दो राज्यों में विभाजित करने का विचार 3 जून 1947 को स्वीकार सत्ता हस्तांतरण की तारीख के रूप में दूसरे विश्व युद्ध में जापान के आत्मसमर्पण की दूसरी सालगिरह 15 अगस्त को चुना। ब्रिटिश सरकार ने ब्रिटिश भारत को दो राज्यों में विभाजित करने के विचार को 3 जून 1947 को स्वीकार कर लिया। घोषित किया गया कि उत्तराधिकारी सरकारों को स्वतंत्र प्रभुत्व दिया जाएगा। उनके पास ब्रिटिश कॉमनवेल्थ से अलग होने का पूरा अधिकार होगा। भारत विभाजन योजना कहलाती है 'माउंटबेटन योजना' भारत विभाजन योजना को 'माउंटबेटन योजना' कहा जाता है। भारत-पाकिस्तान की सीमा रेखा सर सिरिल रेडक्लिफ ने तय की। फिर 18 जुलाई 1947 को ब्रिटिश संसद में भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम पारित हुआ। भारत की आजादी के एक दिन पहले 14 अगस्त को पाकिस्तान बना। विभाजन के दौरान बंगाल, पंजाब में हुए दंगे विभाजन के दौरान बंगाल, बिहार और पंजाब में काफी दंगे हुए। दंगों को रोकने के लिए 15 अगस्त को महात्मा गांधी बंगाल के नोआखली में अनशन पर थे। लाखों मुस्लिम, सिख और हिंदू शरणार्थियों ने आजादी के बाद तैयार नई सीमाओं को पैदल पार कर सफर तय किया। नई सीमाओं के दोनों ओर लगभग 10 लाख लोग हिंसा में मारे गए। संविधान सभा की बैठक के बाद आजादी की घोषणा 14 अगस्त को संविधान सभा की बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने की। इस बैठक के बाद भारत की आजादी की घोषणा हुई। जवाहर लाल नेहरू ने आजादी की घोषणा करते हुए ट्रिस्ट विद डेस्टिनी नामक भाषण दिया।

https://webkhabristan.com/feature-news/india-got-independence-on-15-august-1947what-happened-60-days-before-3248
World Elephant Day 2021: हाथियों के बारे में जानिये रोचक बातें

World Elephant Day 2021: हाथियों के बारे में जानिये रोचक बातें

हाथियों की दुर्दशा के बारे में जागरूकता फैलाना था मकसद पहली बार अंतरराष्ट्रीय हाथी दिवस 12 अगस्त 2012 को मनाया गया। एशियाई और अफ्रीकी हाथियों की दुर्दशा के बारे में जागरूकता फैलाने और उनकी तरफ ध्यान आकर्षित करने के उद्देश्य से इसे मनाने की शुरुआत हुई। हाथियों की मौत के मामले में केरल बदनाम राज्य हाथियों की मौत के मामले में केरल सबसे बदनाम राज्य माना जाता है। पिछले साल ही यहाँ के पल्लकड़ जिले के मन्नारकड़ में विस्फोटक से भरा अनानास खाने की वजह से एक गर्भवती हथिनी की मौत हो गई थी। इससे पूरा देश गुस्से में आ गया था। हाथी को राष्ट्रीय धरोहर के पशु का दर्जा हाथी को राष्ट्रीय धरोहर के पशु का दर्जा हासिल है। भारत में हर पांच साल बाद हाथियों की गिनती की जाती है। पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय अनुसार साल 2017 में देश में लगभग 23 राज्यों के आंकड़ों मुताबिक लगभग 27,312 हाथी थे, जबकि 2012 में इनकी संख्या 29,576 थी। नर अफ्रीकी हाथियों की लंबाई तीन मीटर हाथी दुनिया के सबसे बड़े जानवरों में से एक हैं। नर अफ्रीकी हाथियों की लंबाई तीन मीटर और वजन 4,000-7,500 किलोग्राम के बीच होती है। एशियाई हाथी थोड़े छोटे होते हैं। उनकी लंबाई 2.7 मीटर और वजन 3,000- 6,000 किलोग्राम के बीच होता है। सबसे ज्यादा हाथी कर्नाटक में भारत में हाथियों की सर्वाधिक संख्या कर्नाटक में दर्ज की गई है। वहां इनकी संख्या छह हजार के करीब है। पूरी दुनिया के हाथियों में से 25 फीसदी हाथी केवल अफ्रीकी देश बोत्सवाना में पाए जाते हैं। हाथी की तीन प्रजातियां हैं- अफ्रीकी सवाना हाथी, अफ्रीकी वन हाथी और एशियाई हाथी।

https://webkhabristan.com/feature-news/world-elephant-day-2021-know-interesting-things-about-elephants-3230
लिजेंड्री सिंगर किशोर कुमार मधुबाला से शादी के बाद इस्लाम कबूल कर बन गए थे करीम अब्दुल

लिजेंड्री सिंगर किशोर कुमार मधुबाला से शादी के बाद इस्लाम कबूल कर बन गए थे करीम अब्दुल

1929 में हुआ था जन्म लिजेंड्री सिंगर, एक्टर, म्यूजिक डायरेक्टर, लिरिक्स राइटर, प्रोड्यूसर और स्क्रीनराइटर किशोर कुमार का आज जन्मदिन है। 1929 में जन्मे किशोर कुमार बंगाली और तमिल भाषाओं में भी ब्लॉकबस्टर हिट दे चुके हैं। बॉम्बे टॉकीज से की थी शुरुआत खंडवा मध्यप्रदेश में जन्म लेने वाले किशोर कुमार का असली नाम आभास कुमार गांगुली था। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत अपने भाई अशोक कुमार की तरह बॉम्बे टॉकीज से की थी। पहली फिल्म थी शिकारी किशोर कुमार ने पहली बार साल 1946 में आई फिल्म शिकारी में अभिनय किया था। फिल्म में उनके भाई अशोक कुमार लीड रोल में थे। अशोक कुमार चाहते थे कि किशोर उन्हीं तरह एक्टर बनें, लेकिन उन्हें अभिनय में दिलचस्पी नहीं थी। किशोर कुमार ने की चार शादियाँ किशोर कुमार हॉलीवुड सिंगर और एक्टर डैनी काय के प्रशंसक थे। किशोर ने चार शादियां की थीं। रूमा गुहा, मधुबाला, योगिता बाली और लीना चंदावरकर उनकी पत्नियां रह चुकी हैं। महिला की आवाज़ में भी गाते थे गाना किशोर कुमार नेघर के बाहर किशोर कुमार से सावधान बोर्ड लगा रखा था। वे महिलाओं की आवाज में भी गाना गा लेते थे। एक लड़की भीगी भागी सी में किशोर ने लड़की की आवाज में गाना गाया था।

https://webkhabristan.com/feature-news/happy-birthday-legendary-singer-kishore-kumar-3126