फीचर न्यूज़

मिलिए सआदत हसन मंटो से

मिलिए सआदत हसन मंटो से

अजीब आदमी था वो। उर्दू में कमज़ोर था इंट्रेंस में कई बार फेल हुआ। दोस्तों संग मिलकर ड्रामा क्लब बनाया, मगर पिता ने सब तोड़ दिया। जी हां ये थे साहित्य प्रेमियों के हरमन प्यारे सआदत हसन मंटो।

आज है नेशनल टेक्नोलॉजी डे जानें क्यों खास है आज का दिन

आज है नेशनल टेक्नोलॉजी डे, जानें क्यों खास है आज का दिन

​​​​​​​वेब खबरिस्तान। आज  यानी 11 मई को देश में नेशनल टेक्नोलॉजी डे के रूप में मनाया जाता है। देश ने टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में कई उपलब्धियां हासिल की हैं। इस दिन के पीछे का इतिहास बहुत ही दिलचस्प है।


Happy Mother’s Day

Happy Mother’s Day

कंगना ने मां की तस्वीर की शेयर कंगना ने इंस्टा पर मां की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा... जब मैंने घर छोड़ा, सोचा नहीं था कि दुनिया में एकदम से अंधेरा छा जाएगा। जब भी घर फोन करती थी पापा कई सवाल करते थे, भाई-बहन के अपने डाउट होते थे। लेकिन एक तुम ही थी जो हमेशा पूछती थी बेटा खाना खाया? तुम्हारे लिए खाना कौन बनाता है। लव यू मां। प्रियंका ने लिखा.. जिंदगियों की शुरुआत प्रियंका ने लिखा- सभी जिंदगियों की शुरुआत। हमारे आसपास की उन सभी माताओं का शुक्रिया जो हमें संभालती हैं और प्यार देती हैं। मैरी जिंदगी की दो महिलाएं जो कि इस बात का बेहतरीन उदाहरण हैं। लव यू। हैप्पी मदर डे। करीना ने शेयर की दोनों बेटों की फोटो करीना कपूर ने खास अंदाज में इंस्टाग्राम पर अपने बड़े बेटे तैमूर और छोटे बेटे की फोटो साझा करते हुए लिखा आज उम्मीद पे पूरी दुनिया कायम है। और ये दोनों एक बेहतर कल के लिए मुझे उम्मीद देते हैं। सभी खूबसूरत और सशक्त माताओं को मदर डे की शुभकामनाएं। किआरा ने ये लिखा... किआरा ने अपने इंस्टा अकाउंट पर अपनी मां के साथ तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, ऐसा कुछ भी नहीं है जो आपकी मां ठीक नहीं कर सकती। हैप्पी मदर डे। मैंने आई से बहुत कुछ सीखा है... माधुरी दीक्षित ने भी मदर्स डे की शुभकामनाएं दीं। अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर मां के साथ फोटो शेयर करते हुए लिखा 'मैंने अपनी आई से बहुत कुछ सीखा है और अभी भी सिख रही हूं।'

https://webkhabristan.com/feature-news/mother-day-special-1756
सेंट्रल विस्टा परियोजना पर घमासान

सेंट्रल विस्टा परियोजना पर घमासान

राहुल गांधी ने उठाया था सवाल कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने परियोजना को संसाधन का आपराधिक दुरुपयोग बताते हुए सरकार से कोरोना महामारी के दौरान लोगों की जिंदगी पर ध्यान देने को कहा था। कांग्रेस का रवैया विचित्र पुरी ने ट्वीट किया, सेंट्रल विस्टा का खर्च लगभग 20,000 करोड़ है। इससे लगभग दोगुनी राशि टीकाकरण के लिए आवंटित है। इस साल भारत का स्वास्थ्य बजट तीन लाख करोड़ रुपये से ज्यादा है। हम प्राथमिकताएं जानते हैं। सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कोरोना महामारी के दौरान सेंट्रल विस्टा के निर्माण रोकने की मांग को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई से इन्कार कर दिल्ली हाई कोर्ट जाने और तुरंत सुनवाई के अनुरोध की इजाजत दे दी। नए संसद भवन के साथ होंगे कई निर्माण सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में नया संसद भवन, प्रधानमंत्री और उप राष्ट्रपति के घर के साथ कई भवन बनेंगे। सितंबर 2019 में घोषणा के बाद दिसंबर 2020 में इसकी आधारशिला रखी गई। राजपथ का भी रूप बदलेगा इंडिया गेट से राष्ट्रपति भवन तक तीन किलोमीटर लंबे राजपथ में बदलाव होने हैं। नॉर्थ और साउथ ब्लॉक संग्राहलय का रूप ले लेंगे। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र को भी स्थानांतरित किया जाएगा। 65 हजार स्कवायर फीट में बनेगा संसद भवन संसद भवन की नई बिल्डिंग करीब 65,400 स्क्वायर मीटर में बनेगी। तिकोने ढांचे वाली इमारत पुरानी इमारत जितनी ऊंची ही बनेगी। लोकसभा चैंबर में 888 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी, जबकि राज्यसभा में 384 सीट होंगी।

https://webkhabristan.com/feature-news/conflict-upon-central-vista-project-1715
दीदी ओ दीदी तंज का हुआ नुकसान

दीदी ओ दीदी तंज का हुआ नुकसान

मुख्यमंत्री का चेहरा नहीं था यह सच है कि इस चुनाव में भाजपा काफी मजबूती के साथ तृणमूल कांग्रेस का सामना किया, लेकिन ममता के बराबर कोई नेता या मुख्यमंत्री के चेहरा न होना बड़ी कमजोरी साबित हुई। पार्टी के अंदरूनी सूत्रों ने भी कई बार इस पर चिंता जाहिर की। पार्टी ने पूरा चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे पर ही लड़ा। ममता ने बीजेपी को बाहरी साबित किया ममता भाजपा को शुरुआत से बाहरी बताती रहीं और अपने ऊपर हुए हमलों को बंगाली अस्मिता से जोड़ दिया। भाजपा अगर तोलाबाजी, कटमनी और उनकी पार्टी के भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाकर ही चुनाव लड़ती तो शायद इससे ज्यादा अच्छा प्रदर्शन कर पाती। ममता परिवार को निशान बनाने का फैसला गलत साबित हुआ। दावे जो वफा न हो सके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा दावा करते रहे कि भाजपा 200 का आंकड़ा पार कर जाएगी। प्रधानमंत्री मोदी ने भी बंगाल में 18 बड़ी रैलियां कीं। पीएम मोदी रैलियों में ममता बनर्जी पर दीदी ओ दीदी कहकर तंज कसते थे। इस तंज को तृणमूल कांग्र्रेस ने मुद्दा बनाया और पलटवार किया था। ध्रुवीकरण की रणनीति फेल ध्रुवीकरण बड़ा मुद्दा रहा। भाजपा ने ममता बनर्जी और तृणमूल पर तुष्टीकरण का आरोप लगाया। भाजपा ने रैलियों में जय श्री राम के नारे पर हुए विवाद को मुद्दा बनाकर पेश किया। जवाब में ममता बनर्जी ने मंच पर चंडी पाठ किया, फिर अपना गोत्र भी बताया और हरे कृष्ण हरे हरे का नारा दिया। माना जा रहा था कि हिंदू वोटर भाजपा के पक्ष में आएंगे पर ये हो न सका। दल बदलू दे गए फायदा ममता ने भाजपा पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाते हुए इन नेताओं को दल-बदलू, धोखेबाज और मीरजाफर तक कहा। ममता बनर्जी ने इसे इस तरह से प्रोजेक्ट किया कि उनके अपनों ने ही उन्हेंं धोखा दिया क्योंकि वह खुद बेईमान थे। राजनीतिक विश्लेषक मानते हैं कि ममता के इस दांव से उन्हें फायदा मिला। भाजपा ने आपने नाराज किए भाजपा ने दूसरे दलों के नेताओं को पार्टी में शामिल कराया और टिकट दिए। पार्टी ने अपने नेताओं की नाराजगी मोल ले ली। टिकट बंटवारे के दौरान बंगाल भाजपा यूनिट में विरोध देखने को मिला था। विवश होकर भाजपा को कई बार संशोधन भी करना पड़ा। हालांकि अपनों के बजाय बाहरी नेताओं पर अधिक भरोसा पार्टी की अंदरूनी लड़ाई की वजह बना। कोरोना में आक्सीजन की कमी और भाजपा में वोटों की कोरोना की दूसरी लहर बेकाबू हो गई। देश में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी का मुद्दा इन दिनों गर्माया हुआ है। मरीज ऑक्सीजन न मिल पाने के चलते दम तोड़ रहे हैं तो पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी का हाल भी कुछ ऐसा ही हुआ है। यहां वोटों की ऐसी किल्लत हुई है कि भाजपा की बंगाल जीतने की हसरत भी दम तोड़ती नजर आई। नारों ने बदली तस्वीर ममता बनर्जी की तेजतर्रार छवि, बंगाली अस्मिता, महिलाओं और अल्पसंख्यकों का टीएमसी की ओर बड़ा झुकाव का सीधा फायदा तृणमूल को मिला। तृणमूल ने भाजपा की हिंदू वोटों की ध्रुवीकरण की कोशिश की काट करने के लिए 'बंगाल को चाहिए अपनी बेटीÓ का नारा देकर महिला वोटरों को बड़े पैमाने पर अपने पाले में खींचा। (सभी फोटो इंटरनेट से ली गई हैं।)

https://webkhabristan.com/feature-news/west-bangal-election-result-2021-1623
कोरोना की दूसरी लहर गहरा रही, 3,86,452 मामले मिले

कोरोना की दूसरी लहर गहरा रही, 3,86,452 मामले मिले

सरकार रेमडेसिविर के साढ़े चार लाख वायल आयात करेगी कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए केंद्र सरकार ने दवा रेमडेसिविर की 4.5 लाख डोज मंगाने का आर्डर दिया है। 75,000 वायल (शीशी) की पहली खेप शुक्रवार को भारत पहुंच जाने की उम्मीद है। कोरोना से बचाव में रामबाण हैं चौलाई औषधीय गुणों से भरपूर चौलाई(साग) कोरोना में रामबाण साबित हो सकती है। विशेषज्ञों के अनुसार इसमें प्रोटीन, खनिज, विटामिन ए, बी व सी के अलावा आयरन, कैल्शियम और फास्फोरस पाए जाते हैं। यह कोलेस्ट्राल को नियंत्रित करती है। दो लाख लोगों की मौत पर जवाबदेही शून्य : राहुल कोरोना की दूसरी लहर के कारण लगातार बढ़ रही मृतकों की संख्या को देखते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सरकार की जवाबदेही पर सवाल उठाया है। इलाज के अभाव में हो रही मौतों को लेकर उन्होंने लोगों से सहानुभूति जताई है। दिल्ली में 15 मई तक बढ़ सकता है लाकडाउन राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 20 अप्रैल से लागू लाकडाउन 15 मई तक बढ़ सकता है। दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि लाकडाउन को लेकर अभी फिलहाल कोई चर्चा नहीं हुई है। मगर, हालात देखते हुए 15 मई तक बढ़ाया जा सकता है। आप विधायक शोएब ने राष्ट्रपति शासन की मांग की आम आदमी पार्टी के विधायक शोएब इकबाल ने दिल्ली हाईकोर्ट से अपील की है कि दिल्ली में कोरोना से हालात बेकाबू हो चुके हैं, लिहाजा तुरंत राष्ट्रपति शासन लगाया जाए।

https://webkhabristan.com/feature-news/second-wave-of-corona-dangerous--1585
इंटरनेशनल डांस डे : जानिए इसका इतिहास और महत्व

इंटरनेशनल डांस डे : जानिए इसका इतिहास और महत्व

किसने चुना ये दिवस साल 1982 में अंतरराष्ट्रीय थियेटर संस्थान ने इस दिन को मनाने का फैसला किया था। आईटीआई के बनते ही उसके साथ दुनिया के प्रसिद्ध नृतक और कोरियोग्राफर्स इसके साथ जुड़ते चले गए। 29 अप्रैल ही क्यों चुना आईटीआई ने 29 अप्रैल को अंतरराष्ट्रीय नृत्व दिवस आधुनिक बैले के निर्माता जीन जोर्जेस नोवेरे को सम्मानित करने के लिहाज से चुना। 29 अप्रैल को उनका जन्मदिन है। दुनिया भर में भेजा जाता है संदेश हर साल आईटीआई की इंटरनेशनल डांस कमेटी और आईटीआई की एक्जीक्यूटिव काउंसिल बेहतरीन कोरियोग्राफर या नृतक को चुनते हैं, दुनिया भर में संदेश भेजते हैं। इस बार की थीम इस बार इंटरनेशनल डांस डे की ऑनलाइन शुरुआत परिस के समयानुसार दोपहर दो बजे से लेकर शाम छह बजे तक होगी। इस बार की थीम “नृत्य का उद्देश्य” है। प्रमुख तौर पर डांस परफॉर्मेंस की वीडियो शामिल होगा। ऑनलाइन प्रस्तुतियां होंगी दुनिया भर के अलग अलग महाद्वीपों की प्रस्तुतियां होगी जिसमें क्लासिकल से लेकर सोलो, कन्टेंपरेरी ग्रुप शामिल होंगे । ये प्रस्तुतियां मंच या फिर किसी भी जगह पर हो सकती हैं।

https://webkhabristan.com/feature-news/intl-dance-day-1550
कोरोना संक्रमित मरीज का होम आइसोलेशन कमरा कैसा होना चाहिए...

कोरोना संक्रमित मरीज का होम आइसोलेशन कमरा कैसा होना चाहिए...

आइसोलेशन के लिए कमरे का चुनाव मरीज़ को आइसोलेशन में रखना जरूरी है इसलिए कमरा हवादार होना चाहिए। कमरे में धूप और ताजी हवा जरूर आनी चाहिए। बंद कमरे में वायरस एक जगह बैठ जाता है और पनपता है इसलिए कमरे में धूप और हवा का होना जरूरी है। कमरे में अटैच्ड बाथरूम हो कमरे में अटैच्ड बाथरूम होना चाहिए। ताकि संक्रमित व्यक्ति के अलावा उस बाथरूम को कोई और यूज न करे। अगर घर में एक ही बाथरूम हैं तो मरीज़ के इस्तेमाल करने के बाद बाथरूम को वॉश करके सैनिटाइज करके ही इस्तेमाल करें। कमरे में दरवाजा जरूर लगा हो ताकि इंफेक्शन बाहर न फैले। बीपी चेक करें अगर मरीज़ ब्लड प्रेशर का मरीज़ नहीं है तो भी उसका ब्लड प्रेशर जरूर चेक करें। कोरोना की वजह से ब्लडप्रेशर बढ़ और घट सकता है। हाई बीपी 140/90 और लो बीपी 100/65 है तो डॉक्टर से संपर्क करें। खान-पान के जरिए ब्लड प्रेशर नॉर्मल करने की कोशिश करें। फीवर हो तो चेक करवाएं बॉडी का तापमान 98 डिग्री फारेनहाइट से 99 डिग्री फारेनहाइट होता है। अगर बॉडी का तापमान इससे ज्यादा है तो बुखार हो सकता है। डॉक्टर की सलाह पर बुखार कम करने की दवा लें। ऑक्सीजन लेवल को चेक करें ऑक्सीमीटर से खून में ऑक्सीजन का लेवल चेक करते रहें। खून में ऑक्सीजन का लेवल सामान्य 98% से गिरकर 94% आ जाए तो डॉक्टर को बताएं। ऑक्सीजन 90 तक आ जाए तो बिना देर तुरंत अस्पताल चले जाएं। मरीज़ को ऑक्सीजन की जरूरत हो सकती है। थर्मामीटर और ऑक्सीमीटर घर में जरूर रखें घर में ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर जरूर रखें ताकि आप बुखार और ऑक्सीजन का लेवल हर 6 घंटे बाद चेक कर सकें। मिट्टी के घड़े या बोतल में पानी को ठंडा करके पीने से इम्यून सिस्टम दुरुस्त रहता है। ऑक्सीमीटर को कैसे इस्तेमाल करें ऑक्सीमटर को हाथ या पैर की उंगली में लगाकर खून में ऑक्सीजन के स्तर का पता लगाया जा सकता है। याद रखें कि ऑक्सीमीटर को ऑन करने के बाद ही उंगली पर लगाएं।

https://webkhabristan.com/feature-news/home-isolate-room--1389
RR ने KKR को 6 विकेट से हराया

RR ने KKR को 6 विकेट से हराया

संजू सैमसन ने खेली नाबाद पारी राजस्थान के कप्तान कप्तान संजू सैमसन ने सबसे ज्यादा 42 रनों की नाबाद पारी खेली। संजू ने दो चौके और एक छक्का लगाया। शिवम दुबे और यशस्वी जयसवाल ने 22-22 रनों की पारी खेली। डेविड मिलर 24 रन बनाकर नाबाद रहे। क्रिस मॉरिस ने लिए चार विकेट राजस्थान के तेज गेंदबाज क्रिस मॉरिस ने 4 विकेट लिए। मॉरिस ने कोलकाता की पारी के 18वें ओवर में दो झटके दिए। चौथी बॉल पर आंद्रे रसेल और आखिरी बॉल पर दिनेश कार्तिक को आउट किया। वहीं, 20वें ओवर में मॉरिस ने पैट कमिंस और शिवम मावी को आउट किया। यशस्वी ने लगाए शानदार शॉट्स यशस्वी जयसवाल ने सीजन में अपना पहला मैच खेला। यशस्वी ने 22 रनों की पारी खेली, जिसमें 5 चौके लगाए। यशस्वी वरुण चक्रवर्ती की गेंद पर आउट हो गए। बटलर भी इस सीजन में कुछ खास नहीं कर सके हैं। उन्होंने 5 मैच में कुल 89 रन ही बनाए हैं। पॉइंट टेबल पर सबसे नीचे पहुंची कोलकाता इस सीजन में राजस्थान रॉयल्स की पांच मैचों में यह दूसरी जीत है। वहीं दूसरी ओर कोलकाता नाइटराइडर्स की यह 5 मैचों में लगातार चौथी हार है। इसके साथ ही टीम पॉइंट टेबल में सबसे नीचे 8वें नंबर पर लुढ़क गई है। सबसे टॉप पर आरसीबी का दबदबा है।

https://webkhabristan.com/feature-news/ipl-rr-vs-kkr--1376
विश्व पुस्तक दिवसः कोरोना काल में इंसानों का किताबों ने दिया साथ

विश्व पुस्तक दिवसः कोरोना काल में इंसानों का किताबों ने दिया साथ

क्यों मनाया जाता है पुस्तक दिवस दुनियाभर में किताबों की अहमियत को दर्शाने के लिए विश्व पुस्तक दिवस मनाया जाता है। इस खास दिन पर यूनेस्को और इसके अन्‍य सहयोगी संगठन आने वाले साल के लिए 'वर्ल्ड बुक कैपिटल' का चयन करते हैं। इसका उद्देश्य आने वाली नई किताबों को लेकर पाठकों को जागरूक करना है। कई लेखकों ने इस दिन जन्म लिया और कई स्वर्ग सिधार गए 23 अप्रैल को वर्ल्ड बुक डे के रूप में मनाने का कारण ये भी है कि इस दिन कई प्रमुख लेखकों ने जन्म लिया और कई लेखकों की मृत्यु हो गई थी। विलियम शेक्सपियर, मिगुएल डे सर्वेंट्स और जोसेप प्लाया का 23 अप्रैल को निधन हुआ था। वहीं मैनुएल मेजिया वल्लेजो और मौरिस ड्रून 23 अप्रैल के दिन जन्म हुआ। कब शुरू हुआ था पुस्तक दिवस मनाने का सिलसिला यूनेस्‍को ने 23 अप्रैल 1995 को इस दिवस को मनाना शुरू किया था पुस्तक दिवस खासतौर पर नई पीढ़ी में किताबों को पढ़ने की आदत डाली जा सके। इस दिन खास तौर पर लेखक, प्रकाशक, शिक्षक, लाइब्रेरियन, सार्वजनिक और प्राइवेट संस्थाओं, मानव अधिकारों को बढ़ावा देने वाले एनजीओ को सम्मानित किया जाता है।

https://webkhabristan.com/feature-news/world-book-day-1248