लखीमपुर खीरी में जहां हिंसा हुई वहां बनेगा स्मारक, किसानों की मूर्ति लगाकर पत्थरों पर लिखी जायेगी जुल्म की गाथा

चार किसान और एक पत्रकार का स्मारक बनेगा

चार किसान और एक पत्रकार का स्मारक बनेगा



उसी स्थान पर किसानों का स्मारक बनवाने का ऐलान किया गया है, जहां 3 अक्टूबर को हिंसा हुई थी

वेब ख़बरिस्तान,गाजियाबाद। दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी की ओर से लखीमपुर में उसी स्थान पर किसानों का स्मारक बनवाने का ऐलान किया गया है, जहां 3 अक्टूबर को हिंसा हुई थी। यह ऐलान तिकुनिया में हुए अंतिम अरदास में किया गया। यहाँ चार किसान और एक पत्रकार का स्मारक बनेगा।

डेढ़ से दो एकड़ जमीन पर बनेगा स्मारक


गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक अखबार से बातचीत में बताया कि तिकुनिया में उसी जगह शहीद किसान स्मारक बनाएंगे, जहां पर चार किसानों व एक पत्रकार की शहादत हुई है। इसके लिए हमें करीब डेढ़ से दो एकड़ जमीन चाहिए। जमीन के लिए हम स्थानीय खेत के मालिकों से बातचीत कर उनसे जमीन खरीदेंगे।

एक करोड़ रूपए तक आएगा खर्च

मनजिंदर सिरसा ने कहा- यहाँ चारों किसान व एक पत्रकार का स्टैच्यू लगाया जाएगा। स्मारक पर जो पत्थर लगेंगे, उन पर यह पूरी घटना काले अक्षरों में अंकित की जाएगी। ताकि आने वाली पीढ़ी दर पीढ़ी याद रहे कि सरकार ने कैसे जुल्म ढाया, लेकिन किसान दबे नहीं। जमीन से लेकर निर्माण तक करीब एक करोड़ रुपए खर्च होने की उम्मीद है। इसका खर्च दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी उठाएगी।

Related Links