प्रधानमंत्री मोदी के साथ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने की बैठक, एक दिन पहले ही हुआ था शेड्यूल



​​​​​​​वैक्सीनेशन, मराठा आरक्षण और तूफानों से हुए नुकसान के मुद्दे पर हुई बैठक, 100 मिनट तक चली मीटिंग के बाद ठाकरे ने कहा, मैं कोई नवाज शरीफ से मिलने थोड़ी गया था जो छुपकर मिलता

वेब ख़बरिस्तान, नई दिल्ली। मराठा आरक्षण, वैक्सीनेशन और तूफानों से हुए नुकसान जैसे कई अहम मुद्दों को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक की। खास बात यह रही कि एक दिन पहले मुलाकात का शेड्यूल हुआ और दोनों ने मीटिंग अकेले में की। ये बातचीत काफी लंबी चली, करीब एक घंटा चालीस मिनट तक। सवाल भी हुए तो उद्धव ने कहा, 'भले ही राजनीतिक रूप से साथ नहीं हैं, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि हमारा रिश्ता खत्म हो गया है। मैं कोई नवाज शरीफ से थोड़े ही मिलने गया था, जो छिपकर मिलता। यदि मैं उनसे व्यक्तिगत मुलाकात करता हूं तो इसमें क्या गलत है?'

मुख्यमंत्री बनने के बाद दूसरी बार मोदी से मिले उद्धव


उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बनने के बाद दूसरी बार प्रधानमंत्री से मिलने दिल्ली पहुंचे थे। दोनों की पहली मुलाकात 6 दिसंबर 2019 को हुई थी।

बैठक की अहम बातें

  • बैठक में मराठा आरक्षण के मुद्दे पर चर्चा हुई।
  • उद्धव ठाकरे ने मेट्रो कार शेड परियोजना-3 के लिए जगह की मांग की।
  • क्रॉप इंस्योरेंस के मुद्दे पर बात हुई।
  • NDRF के क्षतिपूर्ति के नियमों में ढील देने की मांग की।
  • मराठी भाषी लोगों को एलीट क्लास में रखा जाए।

मराठा आरक्षण पर मदद मांगी

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में मराठा आरक्षण के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। उद्धव इस मसले पर प्रधानमंत्री मोदी की मदद चाहते हैं। मराठा आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की समीक्षा के बाद इलाहाबाद उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश दिलीप भोसले ने अपनी रिपोर्ट महाराष्ट्र सरकार को सौंप दी है। इसमें पुनर्विचार याचिका दायर करने की सिफारिश है।

Related Links