कोरोना की चेन तोड़ने को देश में कंप्लीट लॉकडाउन की मांग, आ सकता है फैसला



कोविड टास्क फोर्स ने कहा- संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए 15 दिन लॉकडाउन जरूरी

वेब खबरिस्तान। देश में कोरोना संक्रमण का हाल ये है कि पिछले 24 घंटे में साढ़े तीन लाख से ज्यादा कोरोना के केस सामने आए हैं। अगर इस आंकड़े की बात करें तो करीब 50 देशों में एक दिन में मिले केसों से भी ज्यादा है। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए कोविड टास्क फोर्स के मेंबर्स ने कम्प्लीट लॉकडाउन की मांग की है। इन मेंबर्स में एम्स और इंडियन काउंसल ऑफ मेडिकल रिसर्च शामिल हैं। केंद्र सरकार की ओर से इस पर आज फैसला आ सकता है।

दूसरी लहर का पीक आना बाकी


दोनों मेंबर्स एक हफ्ते से ये मांग कर रहे हैं। आईसीएमआर के मुताबिक़ कोरोना की दूसरी लहर का पीक आना बाकी है। इन हालातों में संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए दो हफ्ते का पूर्ण लॉकडाउन जरूरी है। पूर्ण लॉकडाउन नहीं तो आंशिक लॉकडाउन की घोषणा सरकार कर सकती है।

एक्सपर्ट ने कहा - नियम मानने पर मई में खत्म हो सकती है दूसरी लहर

अशोका यूनिवर्सिटी में त्रिवेदी स्कूल ऑफ बायोसाइंसेज के डायरेक्टर और वायरोलॉजिस्ट डॉ. शाहिद जमील ने कहा था कि मई के दूसरे हफ्ते में कोरोना की दूसरी लहर का पीक आ सकता है। यह आंकड़ा 5-6 लाख केस रोजाना भी हो सकता है। अगर लोग कोविड दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे तो शायद मई के अंत में भी हम दूसरी लहर से उबर सकते हैं, पर अगर लोग इसी तरह नियम तोड़ते रहे तो ये लहर लंबी खिंच सकती है।

कई राज्यों में लॉकडाउन

अभी दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, ओडिशा में पूर्ण लॉकडाउन है। महाराष्ट्र और पंजाब में मिनी लॉकडाउन लगाया गया है। यूपी में वीकेंड लॉकडाउन है। मध्य प्रदेश में 7 मई तक जनता कर्फ्यू लगा है।

Related Links