सुप्रीम कोर्ट ने किसानों से कहा- प्रदर्शन करें मगर अनिश्चित समय के लिए सड़कें जाम नहीं कर सकते

इससे पहले भी किसानों को सुप्रीम कोर्ट कुछ दिन पहले फटकार लगा चुका है।

इससे पहले भी किसानों को सुप्रीम कोर्ट कुछ दिन पहले फटकार लगा चुका है।



सुप्रीम कोर्ट की ओर से दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों को एक बार फिर से फटकार लगाई गई है।

वेब ख़बरिस्तान,नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट की ओर से दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों को एक बार फिर से फटकार लगाई गई है। कोर्ट ने कहा है कि किसानों को प्रदर्शन का अधिकार है, मगर वे इस तरह अनिश्चित समय के लिए आप सड़कें जाम नहीं कर सकते। कोर्ट की ओर से दिल्ली की सीमाओं से किसानों को हटाने की अर्जी पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की गई।


जस्टिस एसके कौल और सीटी रविकुमार की बेंच ने कहा कि कुछ समाधान तो तलाशना पड़ेगा। इस मामले में कोर्ट ने किसान संगठनों से 3 हफ्ते में जवाब मांगा है। अगली सुनवाई 7 दिसंबर को होगी।

किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर से बैरिकेड हटाने शुरू किए

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद प्रदर्शनकारी किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर से बैरिकेड हटाने शुरू कर दिए हैं। संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हमने रास्ते नहीं रोके हैं। पुलिस ने बैरिकेड लगाए हैं। अब जिसने रास्ते रोके हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई हो।

पिछले साल नवंबर से कर रहे प्रदर्शन

केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले साल नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे पहले भी किसानों को सुप्रीम कोर्ट कुछ दिन पहले फटकार लगा चुका है। जंतर-मंतर पर प्रदर्शन की इजाजत मांग रहे किसान संगठनों से सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आपने पूरे दिल्ली शहर का दम घोंट दिया है, हाईवे जाम कर दिया है। इससे आम लोग परेशान हो रहे हैं।

Related Links