हिमाचल में बनने वाली 8 और  दवाओं के Samples फेल, लाइसेंस Cancel होंगे

दवा उद्योगों में बन रही दवाइयां एक बार फिर सब स्टैंडर्ड की पाई गई

दवा उद्योगों में बन रही दवाइयां एक बार फिर सब स्टैंडर्ड की पाई गई



फार्मा हब बीबीएन के कई दवा उद्योगों में बन रही दवाइयां एक बार फिर सब स्टैंडर्ड की पाई गई

ख़बरिस्तान नेटवर्क, धर्मशाला


हिमाचल के फार्मा हब बीबीएन के कई दवा उद्योगों में बन रही दवाइयां एक बार फिर सब स्टैंडर्ड की पाई गई हैं। घटिया क़्वालिटी की दवाओं से लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ हो रहा है।केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रक संगठन की ओर से देश भर में लिए गए दवाओं के 27 सैंपल फेल पाए गए हैं। इनमें हिमाचल में बनी आठ दवाओं के भी सैंपल फेल पाए गए हैं। 

इन दवाओं की क़्वालिटी निकली सब स्टेंडर्ड

 बद्दी के मखनू माजरा स्थित मोरपिन लैब में कैल्शियम की दवा केलीक्विक, लोधी माजरा बद्दी स्थित नवकार लाइफ साइंस कंपनी में बनी दस्त की दवा अर्मिडाजोल का सैंपल फेल हुआ है। बद्दी में बनी शुगर की दवा ग्लीमीपाइराइड, सोलन के आंजी स्थित मैक्स रिलीफ हेल्थ केयर कंपनी की बुखार की दवा पैरासिटामोल की दवा का सैंपल भी फेल पाया गया है। कालाअंब स्थित एडविन फार्मा की बुखार की दवा पैरासिटामोल, बद्दी के झाड़माजरी स्थित श्रीराम हेल्थ केयर की एलर्जी की दवा मोंटीलोकास्ट सोडियम व लिवोसिट्राजिन भी फेल हुई है। बद्दी के भुड्ड स्थित मेडीपोल कंपनी की एसिडिटी की दवा आमेप्रोजोल और कालाअंब के खारी स्थित आलजेन हेल्थ केयर की मलेरिया की दवा प्रिमाक्विन के सैंपल भी फेल हुए हैं।

कंपनियों को नोटिस भेजे गए

राज्य दवा नियंत्रक नवनीत मरवाह का कहना है कि जिन कंपनियों की दवाएं फेल हुई हैं, उन्हें नोटिस जारी किया जा रहा है और मार्केट से बैच उठाने को कहा है। फेल पाई गई दवाओं के लाइसेंस भी रद किए जाएंगे।

Related Tags


pharma hub bbn medicinesmorpin lab

Related Links