अगले साल बिहार में फिर चुनाव संभव : तेजस्वी

tejasvi

tejasvi



विधानसभा चुनाव में हार के कारण जानने के लिए मंथन

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की हार के कारणों की समीक्षा के लिए सोमवार को राजद पदाधिकारियों की बैठक हुई। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने दावा किया कि – बिहार सरकार कार्यकाल पूरा नहीं करेगी। अगले साल तक फिर चुनाव हो सकते हैं। इसलिए तैयार रहना चाहिए। बैठक तो सामूहिक विमर्श के लिए थी, लेकिन अंतर्विरोधों से बचने के लिए सबके सुझाव बंद लिफाफे में मांगे गए। कारणों की समीक्षा के लिए प्रमंडलवार कमेटी बनाई जाएगी। जरूरत पडऩे पर प्रत्याशी और जिलाध्यक्ष को बुलाकर बात भी होगी। बैठक में किसानों की दशा और आंदोलन पर भी चर्चा हुई।

पार्टी को सबने वोट दिया


उदय नारायण चौधरी के तिलक-तराजू और तलवार वाले तर्कों से जुदा तेजस्वी यादव ने कहा कि राजद को सभी जाति एवं धर्मों का वोट मिला है। उन्होंने भी हमें वोट दिया है, जिनके बारे में विरोधी होने का प्रचार किया गया। तभी तो हम विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी हैं। जनता ने जिताया है, इसलिए हमें उनका अहसानमंद होना चाहिए। तेजस्वी ने पार्टी संगठन में बदलाव के संकेत दिए। तेजस्वी ने कहा कि जो चुनाव लड़ना चाहते हैं। उन्हें संगठन में जिम्मेदारी नहीं दी जाएगी।

पार्टी विरोधियों को उन्होंने न बख्शने की बात कही। उन्होंने कहा कि कुछलोग पार्टी में पदाधिकारी बनने के बाद चुनाव के दौरान अपने ही प्रत्याशी को हराने के लिए काम करते हैं ताकि अगली बार उन्हें मौका मिले। उन्होंने कहा, जिन पदाधिकारियों के बूथ पर राजद को कम वोट मिले उनकी समीक्षा होगी। बैठक में अब्दुल बारी सिद्दीकी ने सत्ता से बेदखल होने के लिए धांधली और पोलिंग एजेंट को जिम्मेदार बताया और कहा कि धांधली न होती तो जो पांच हजार वोटों से जीते हैं, वे 15 हजार से जीतते। कई बूथों पर पोलिंग एजेंटों के देरी से आने के चलते भी कम वोट मिले।

Related Links