राखी सावंत ने आप विधायक को कहा, ''चड्ढा का चड्ढा उतार दूंगी''



​​​​​​​राघव चड्ढा ने सिद्धू को ''पंजाब की राजनीति का राखी सावंत'' कहा था

वेब ख़बरिस्तान, नई दिल्ली। पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दलों के बीच बयानबाजी में राखी सावंत की एंट्री हो गई। राखी सांवत ने आप नेता को चेतावनी देते हुए कहा कि राघव चड्डा मुझसे और मेरे नाम से दूर रहें।

आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू की राखी सावंत से तुलना करना भारी पड़ता दिख रहा है। राखी सावंत ने इस मामले में तीखी प्रतिक्रिया दी है। राखी सांवत ने साफ कहा कि राघव चड्ढा मुझसे और मेरे नाम से दूर रहो। मिस्टर चड्ढा, मेरा नाम लोगे ना तुम्हारा चड्डा उतार दूंगी। राखी सांवत अपने अलग ही अंदाज के लिए जानी जाती हैं। हालांकि, जिस तरह से राघव चड्ढा ने जिस तरह से उनके नाम का यूज किया। ऐसे में उन्होंने इस तरह के जवाब की उम्मीद नहीं की होगी।


शुक्रवार को आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिद्धू को पंजाब की राजनीति का 'राखी सावंत' बताया था। दरअसल आम आदमी पार्टी की तरफ से यह प्रतिक्रिया सिद्धू के अरविंद केजरीवाल को लेकर दिए बयान पर आई थी। सिद्धू ने कहा था कि, 'जहां एमएसपी का ऐलान होता है वहां भी किसानों का शोषण और फसलों के दाम घटते हैं। अरविंद केजरीवाल जी आपने प्राइवेट मंडी का केंद्रीय काला कानून नोटिफाई कर दिया। क्या इसे डी-नोटिफाई कर दिया गया है या बहाना अभी तक चल रहा है?

इससे पहले आम आदमी पार्टी केंद्र के तीन कृषि कानूनों के लागू होने के एक साल पूरा होने पर 17 सितंबर को 'काला दिवस' मना रही थी। इसके अलावा आप कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए पूरे पंजाब में 'कैंडल मार्च' भी निकालने का कार्यक्रम था।

हालांकि, राघव चड्डा के 'पंजाब के राजनीति के राखी सांवत' वाले बयान पर सिद्धू ने भी रिएक्ट किया था। सिद्धू ने ट्वीट कर कहा था कि इंसान वानरों से विकसित हुआ है और आपको देखकर मुझे विश्वास है कि आप अब भी वानर से विकसित हो रहे हैं। आपने अभी भी अपनी सरकार की तरफ से कृषि कानूनों को नोटिफाई करने के बारे में मेरे सवाल का जवाब नहीं दिया है।

Related Links