दो राज्यों के लोगों का हल्ला बोल : उद्योग की गंदगी कर खिलाफ हिमाचल व पंजाब के लोग सड़क पर उतरे, किया प्रोटेस्ट

लोगों को बीमारियों के मुंह में धकेला जा रहा है

लोगों को बीमारियों के मुंह में धकेला जा रहा है



ग्रामीणों का कहना है कि उद्योग में पशु चारा जलाया जाता है

ख़बरिस्तान, धर्मशाला


हिमाचल के जिला ऊना में हरोली के गांव गौंदपुर जयचंद में चल रहे एक साबुन उद्योग के प्रदूषण से हिमाचल और पंजाब के दर्जनों गांवों के बाशिंदे जिला मुख्यालय की सड़कों पर उतर गए। लोगों ने एक तरफ जहां उद्योग प्रबंधन को प्रदूषण फैलाने के लिए कोसा, वहीं सरकार, प्रशासन और संबंधित विभागों पर इस उद्योग की हिमायत करने का आरोप भी लगाया। ग्रामीणों का आरोप था कि उद्योग के खिलाफ उन्होंने सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेताओं को भी शिकायतें की लेकिन अभी तक नतीजा जीरो रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि उद्योग में पशु चारा जलाया जाता है, जिसके चलते आसपास गांव में धुआं फैलता है। उद्योग का गंदा पानी खुले में छोड़कर लोगों को बीमारियों के मुंह में धकेला जा रहा है। ग्रामीणों ने एडीसी डॉ. अमित शर्मा के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भेजकर उद्योग प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई करने और लोगों को प्रदूषण से निजात दिलाने की मांग उठाई है। यदि अब भी उनकी मांग को अनसुना किया जाता है, तो ग्रामीण उग्र प्रदर्शन करने पर विवश होंगे।

Related Tags


industries indutrial garbage cm jairam thakur

Related Links