मुआवजे के सवाल पर कृषि मंत्री का जवाब – किसानों की मौत का कोई रिकॉर्ड नहीं, मदद का सवाल ही नहीं उठता

कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि कृषि मंत्रालय के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं

कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि कृषि मंत्रालय के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं



संसद के विंटर सेशन के तीसरे दिन दोनों सदनों में कार्यवाही की शुरुआत काफी हंगामेदार रही

वेब ख़बरिस्तान,नई दिल्ली। संसद के विंटर सेशन के तीसरे दिन दोनों सदनों में कार्यवाही की शुरुआत काफी हंगामेदार रही। विपक्ष के हंगामे की वजह से राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी गई है। इसके बाद ही लोकसभा की कार्यवाही भी दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी गई।


12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्षी दल भड़के हुए हैं। वे यह निलंबन रद्द करने की मांग कर रहे है। सभापति ने निलंबित सांसदों से माफी मांगने पर फैसला वापस लेने की बात कही मगर विपक्ष इसके लिए तैयार नहीं है।

किसानों की मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं'

कृषि कानून वापसी को लेकर किए गए आंदोलन में हुई किसानों की मौत और मुआवजे को लेकर सरकार ने संसद में जवाब दिया। विपक्ष ने सरकार से सवाल पूछा था कि सरकार के पास ऐसा कोई आंकड़ा है, जिसमें प्रभावित परिवारों का जिक्र हो या फिर उनकी मदद के लिए कोई प्रस्ताव हो। इस पर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि कृषि मंत्रालय के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं है। ऐसे में मुआवजे का सवाल नहीं उठता है।

700 किसानों की हुई थी मौत

विपक्ष ने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ सालभर चले आंदोलन के दौरान 700 किसानों की मौत हुई। कृषि कानून वापसी बिल सोमवार को दोनों सदनों में पास हो गया था।

Related Links