डोमिनिका की कोर्ट ने चौकसी को जमानत नहीं दी, कहा- जमानत दी तो भाग सकता है



पंजाब नेशनल बैंक घोटाले का आरोपी और भगोड़े हीरा करोबारी मेहुल चौकसी को डोमिनिका की हाईकोर्ट की और से बड़ा झटका लगा है

वेब खबरिस्तान, नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक घोटाले का आरोपी और भगोड़े हीरा करोबारी मेहुल चौकसी को डोमिनिका की हाईकोर्ट की और से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने उसे जमानत देने से इनकार का दिया। हाईकोर्ट ने चौकसी के भागने का खतरा होने की वजह से जमानत देने से इनकार कर दिया है।

बैंक से गलत तरीके से लोन हासिल किया


सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टीगेशन  ने डोमिनिका की कोर्ट में एफिडेविट दाखिल किया। सीबीआई ने कोर्ट से कहा कि मेहुल चौकसी बहुत ही शातिर व्यक्ति है। उसने कुछ लोगों के साथ मिलकर बैंक से गलत तरीके से लोन हासिल किया। जांच के दौरान सीबीआई ने उसे कई बार गिरफ्तार करने की कोशिश की, लेकिन वह देश में नहीं था।

पैरवी के लिए नियुक्त किया वकील

मेहुल चौकसी को उसके ऊपर की जा रही कार्रवाई के बारे में अच्छी तरह से पता था। उसने भारत में अपनी पैरवी के लिए वकील की नियुक्ति कर रखी है। सीबीआई ने कहा कि चौकसी ने भारत में चल रही कार्रवाई की बात डोमिनिका की कोर्ट से छिपाई है और कोर्ट से कहा है कि उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं चल रही है।

मेहुल चौकसी अंतर्राष्ट्रीय भगोड़ा

मेहुल चौकसी अंतर्राष्ट्रीय भगोड़ा है और वह लगातार भारत के कानून से बचने की कोशिश कर रहा है। यदि उसे जमानत दे दी जाती है तो वह इंटरपोल के रेड कॉर्नर नोटिस का भी उल्लंघन कर सकता है। इंडिया में मेहुल चौकसी के खिलाफ 17 अप्रैल 2018 को गैरजमानती वारंट जारी किया गया था,  पर वह पहले ही भारत से भाग गया। इसलिए उसकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई। चौकसी के वकीलों ने कोर्ट में तर्क दिया कि एक कैरिकॉम नागरिक के तौर पर मेहुल जमानत का हकदार है, चूँकि उस पर लगाए गए आरोप जमानती धाराओं के तहत आते हैं। वकीलों ने यह भी तर्क दिया कि चौकसी की सेहत ठीक नहीं है। ऐसे में जमानत की राशि लेकर उसे बेल दी जानी चाहिए। मजिस्ट्रेट कोर्ट ने जमानत याचिका ख़ारिज कर दी थी इसलिए चौकसी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी

Related Links