26 महीने बाद मुख्तार अंसारी पहुंचा यूपी,  तड़के 4:31 पर बांदा जेल लेकर पहुंची पुलिस



हैंडओवर की प्रक्रिया से पहले अंसारी का कोरोना टेस्ट किया गया, रोपड़ से मंगलवार दोपहर दो बजे रवाना हुई एंबुलेंस् बुधवार तड़के 4 :31 पर बांदा पहुंची, साढ़े 14 घंटे का सफर किया तय

वेब खबरिस्तान। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी आखिरकार 26 महीने बाद पंजाब से यूपी वापस पहुंच गया है। रोपड़ से यूपी के बांदा तक साढ़े 14 घंटे का सफर तय करने के बाद मुख्तार अंसारी तड़के 4:31 पर बांदा जेल पहुंच गया। जेल के अंदर अंसारी की एंबुलेंस और एक सुरक्षा गाड़ी को ही जाने दिया गया।

यहां पर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य की ओर से गठित की गई चार डॉक्टर्स की टीम ने मुख्तार अंसारी का स्वास्थ्य जांचा। जांच के बाद बांदा जेल अधीक्षक पीके त्रिपाठी ने कहा कि अंसारी फिट है। इसके बाद सामान की तलाशी भी ली गई। आधे घंटे तक चले इस प्रोसेस के बाद उसे जेल की 16 नंबर बैरक में भेज दिया गया।

उत्तर प्रदेश की पुलिस अंसारी को लेकर रोपड़ से मंगलवार दोपहर 2:05 बजे रवाना हुई थी। करीब साढे़ 14 घंटे में 882 किलोमीटर का सफर तय करके पुलिस उसे लेकर बांदा जेल पहुंची। काफिले में पुलिस की करीब 10 गाड़ियां शामिल थींइन गाड़ियों में 150 पुलिसकर्मी शामिल थे। रास्ते में आने वाले सभी जिलों में अलर्ट घोषित किया गया था।


अंसारी को चाय में दिया था जहर

मुख्तार अंसारी के भाई व गाजीपुर से बसपा के सांसद अफजाल अंसारी ने कहा कि जिस बांदा जेल में मुख्तार अंसारी को शिफ्ट किया जा रहा है, वहां पहले भी उन्हें चाय में जहर देकर मारने की कोशिश की गई थी। उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है, लेकिन यूपी सरकार की नीयत पर भरोसा नहीं है। हम सुप्रीम कोर्ट से मेडिकल सुविधाएं मुहैया करवाने की गुहार लगा चुके हैं।

हैंडओवर करने से पहले कोरोना टेस्ट

यूपी लेकर जाने पहले मुख्तार का कोरोना टेस्ट भी किया गया। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही अंसारी को हैंडओवर करने की प्रक्रिया शुरू की गई। अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगा मुख्तार का हाल विकास दुबे जैसा होने की आशंका जताई थी। उन्होंने पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी और केंद्रीय सुरक्षा बल लगाने की मांग की थी।

Related Links