लॉकडाउन के डर से फिर पलायन पर प्रवासी मजदूर, यूपी-बिहार वाली ट्रेनें बन सकती हैं सुपर स्प्रेडर

पुणे स्टेशन के बाहर लगी मजदूरों की भीड़।

पुणे स्टेशन के बाहर लगी मजदूरों की भीड़।



यात्रियों ने कहा, पिछली बार की तरह पैदल घर जाने से बेहतर है ट्रेनों में 30-35 घंटे खड़े होकर सफर कर लिया जाए, यात्रियों को समझाने पहुंचे कांग्रेसी नेता बोले, अन्य राज्यों में भी कोरोना फैलाएंगे यात्री

वेब खबरिस्तान। देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कई राज्यों में फिर से लॉकडाउन की स्थिति पैदा हो गई है। लॉकडाउन के डर एक बार फिर प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू हो गया है। ये लोग अपने घर वापसी करने लगे हैं। मुंबई में लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्टेशन से उत्तर प्रदेश जाने वाली ट्रेनों में पैर रखने की जगह भी नहीं है। जनरल डिब्बों में एक के ऊपर एक यात्री सवार होकर यात्रा कर रहा है। पुणे और नागपुर में भी यही हालात हैं। ये ट्रेनें सुपर स्प्रेडर बन सकती हैं और संक्रमण का खतरा भी बढ़ सकता है।

लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्टेशन पर ट्रेनों के जनरल डिब्बों में क्षमता से भी दोगुने यात्री सफर करते नजर आए। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन इन स्थितियों में असंभव नजर आ रहा है। सीटों और फ्लोर पर जगह नहीं मिली तो लोग ट्रेनों की छतों पर बैठ गए। स्टेशन पर भीड़ की जानकारी मिलने पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता संजय निरुपम यात्रियों को समझाने स्टेशन पहुंचे थे।

यात्रियों ने कहा, लॉकडाउन की आशंका


लखनऊ जा रहे यात्रियों का कहना है कि लॉकडाउन की आशंका के चलते सभी मजदूर अपने-अपने गांव वापस जा रहे हैं। यात्रियों ने कहा, पिछली बार की तरह पैदल घर जाने से बेहतर है ट्रेन में खड़े-खड़े 30-35 घंटे का सफर तय कर लिया जाए।

कांग्रेस नेता बोले- दूसरे राज्यों में भी कोरोना फैलाएंगे मजदूर

कांग्रेस नेता संजय निरुपम यात्रियों को समझान के लिए स्टेशन पहुंचे। उन्होंने कहा, लोगों में लॉकडाउन का डर है। ट्रेन में संक्रमित लोग भी होंगे जो दूसरे राज्यों में कोरोना फैलाएंगे। जितना जल्दी हो सके, सरकार लॉकडाउन का फैसला वापस ले।

रेलवे ने भी की अपील

स्टेशन पर भीड़ जुटती देख रेलवे ने अपील की कि ट्रेन में टिकट बुकिंग को लेकर फैल रही अफवाहों से घबराएं नहीं। रेलवे की ओर से गर्मियों की छुट्टियों में अधिक विशेष ट्रेनें चलाई जाती हैं। लोगों से अपील है कि वे कोरोना को देखते हुए स्टेशनों पर भीड़ न करें। ट्रेन छूटने के 90 मिनट पहले ही स्टेशन पर पहुंचे। कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान रखें।'

Related Links