ओमिक्रोन वैरिएंट को देखते हुए केंद्र सरकार ने जारी की नई ट्रेवल एडवाइजरी, पढें

सभी यात्रियों को कोविड-19 टेस्ट से गुजरना होगा

सभी यात्रियों को कोविड-19 टेस्ट से गुजरना होगा



ओमिक्रॉन वैरिएंट के खतरे के मद्देनजर भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी की है।

वेब ख़बरिस्तान,नई दिल्ली।  भारत में पिछले 24 घंटे में 8,309 कोरोना केस सामने आए हैं। इस दौरान कोरोना से 236 लोगों की जान भी गई है। इसी बीच ओमिक्रॉन वैरिएंट के खतरे के मद्देनजर भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। इसके अनुसार, 'एट रिस्क' देशों से आने वाले सभी यात्रियों को कोविड-19 टेस्ट से गुजरना होगा। टेस्टिंग की शर्त तब भी लागू होगी, चाहे आने वाले यात्री पूरी तरह वैक्सीनेटेड हों।

पॉजिटिव पाए जाने वाले यात्री होंगे आइसोलेट

खतरे की श्रेणी में रखे गए देशों से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट पर टेस्ट कराना होगा।

बाहर जाने वाले यात्रियों को 72 घंटे पहले किए गए टेस्ट की रिपोर्ट देना जरूरी होगा।


पॉजिटिव पाए जाने वाले यात्रियों को आइसोलेट किया जाएगा, सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग होगी।

निगेटिव पाए गए यात्री घर जा सकेंगे, पर 7 दिन तक आइसोलेट रहना होगा और 8वें दिन फिर टेस्ट होगा और अगले 7 दिन उन्हें सेल्फ मॉनीटिरिंग करनी होगी।

ओमिक्रॉन के खतरे की श्रेणी से जिन देशों को बाहर रखा गया है, वहां से आने वाले यात्रियों में 5 फीसदी की टेस्टिंग जरूर की जाएगी।

राज्य भी विदेशों से आने वाले यात्रियों की निगरानी करें, टेस्टिंग बढ़ाएं और कोरोना हॉटस्पॉट की भी निगरानी करें।

ओल्ड एज होम में मिले 62 कोरोना संक्रमित

कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर राज्यों का प्रशासन भी पूरी एहतियात बरत रहा है। उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों को राज्य के बॉर्डर पर आरटी-पीसीआर टेस्टिंग अनिवार्य होगी। महाराष्ट्र में एक ओल्ड एज होम में 62 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसके बाद पूरे इलाके को कंटेनमेंट जोन में तब्दील कर दिया गया।

Related Links