महापंचायत में राकेश टिकैत ने कहा- शहीद किसानों का स्मारक और एमएसपी गारंटी कानून बने

राकेश टिकैत ने कहा कि एक साल में जितने भी घटनाक्रम हुए उन पर सरकार बात करे

राकेश टिकैत ने कहा कि एक साल में जितने भी घटनाक्रम हुए उन पर सरकार बात करे



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के ऐलान के बाद यह पहली महापंचायत है।

वेब ख़बरिस्तान,लखनऊ। किसानों की महापंचायत शुरू हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के ऐलान के बाद यह पहली महापंचायत है। इको गार्डन में भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत भी पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि तीन कृषि कानूनों के अलावा किसानों के अभी और भी कई मसले हैं। उन किसानों का क्या जो आंदोलन में शहीद हो गए। शहीद किसानों के लिए स्मारक बनवाया जाए। एमएसपी गारंटी कानून बने और गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र को बर्खास्त किया जाए। सरकार से टेबल पर बैठकर बातचीत के बाद ही घर वापसी होगी।

बिल रद्द होने का इन्तजार करेंगे


इस मोर्चा से जुड़े नेताओं ने कहा कि शीत कालीन सत्र में बिल रद्द होने का इंतजार करेंगे। लखनऊ की महापंचायत के साथ मोर्चा के लोग सरकार पर इसको लेकर और ज्यादा दबाव बनाने की तैयारी कर रहे हैं।

राकेश टिकैत ने कहा कि एक साल में जितने भी घटनाक्रम हुए उन पर सरकार बात करे और एक स्पष्ट पत्र जारी करे। ये आज देश की संपत्ति, मंडियों की जमीनों को बेच रहे हैं, उस पर कौन बात करेगा। तीन कानून से अलग हट कर और भी कई सवाल हैं। ये आंदोलन एक साल से चल रहा है। ये आंदोलन सिर्फ तीन कृषि कानून पर नहीं है, इसके साथ एमएसपी और बिजली अमेंडमेंट बिल भी है। जब तक बातचीत नहीं होगी तब तक किसान वापस नहीं जाएगा।

Related Links