हिमाचल पुलिस पेपर लीक : 12 राज्‍यों में जालसाजों का नेटवर्क , पुलिस अधिकारियों पर भी संदेह, एक हफ्ते में दाखिल होगी चार्जशीट

डीजीपी ने कहा की मामला में हिमाचल पुलिस ने अब तक 171 आरोपी गिरफ्तार किए हैं

डीजीपी ने कहा की मामला में हिमाचल पुलिस ने अब तक 171 आरोपी गिरफ्तार किए हैं



शिमला में पत्रकार वार्ता कर जांच के स्टेटस की जानकारी मीडिया से सांझा की

ख़बरिस्तान, शिमला


 हिमाचल प्रदेश के डीजीपी संजय कुंडू ने पेपर लीक मामले पर सोमवार को शिमला में पत्रकार वार्ता कर जांच के स्टेटस की जानकारी मीडिया से सांझा की। डीजीपी ने कहा की मामला में हिमाचल पुलिस ने अब तक 171 आरोपी गिरफ्तार किए हैं। 12 राज्यों की गैंग इसमें शामिल हैं। एसआईटी प्रमुख डीआईजी मधुसूदन ने कहा कि पेपर लीक में पुलिस अधिकारियों की मिलीभगत से  इन्‍कार नहीं किया जा सकता है। एसआईटी एक सप्ताह के भीतर चार्जशीट दाखिल करेगी। राज्य सरकार से सिफारिश की जाएगी कि वह धारा 420 में संशोधन कर राजस्थान की तर्ज पर सख्त कानून बनाएं। राजस्थान ने इसे गैर जमानती अपराध बनाया है, जबकि हिमाचल समेत देश के अन्‍य राज्‍यों ने अभी है गैर जमानती नहीं किया है। अभी तीन साल तक की ही सजा का ही प्रावधान है।

डीजीपी ने कहा कि वह राजस्थान के कानून को स्टडी करेंगे।  अंग्रेजों के समय में जब आईपीसी की धारा 420 बनी थी, तब उसकी गंभीरता के बारे में नहीं सोचा था। आज पेपर लीक जैसा मामला संगठित अपराध बन गया है। हिमाचल में जिन आरोपितों की संलिप्तता रही है। उन्होंने देशभर में अनेकों पेपर लीक किए हैं। राज्य सरकार के माध्यम से केंद्र सरकार से आग्रह किया है परीक्षाओं के पेपर छपवाने के लिए नया तंत्र विकसित करें व पेपर सरकारी प्रेस में ही प्रिंट करवाए जाएं।पुलिस को पेपर लीक मामले में अभी कुछ और आरोपी की तलाश है। इनके खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की जाएगी। सीबीआई से अभी कोई पत्राचार नहीं हुआ है।

Related Tags


himachal police paper leak dgp sanjay kundu himachal constable paper leak

Related Links