संसद पर ट्रैक्टर चढ़ाने और खालिस्तानी फ्लैग लगाने के लिए दिया सवा लाख डॉलर का लालच

गुरपतवंत पन्नू

गुरपतवंत पन्नू



युवाओं और किसानों को कॉल करके भड़काऊ स्पीच दे रहा प्रतिबंधित संगठन सिख फॉर जस्टिस का सदस्य पन्नू

वेब ख़बरिस्तान। प्रतिबंधित संगठन सिख फॉर जस्टिस के गुरपतवंत सिंह पन्नू युवाओं और किसानों को कॉल करके भड़काऊ स्पीच दे रहा है। किसानों के संसद मार्च के कारण वह बार-बार रिकार्डिड ऑडियो कॉल भेजकर युवाओं को लालच देकर उकसा रहा है। दिन में दो बार कॉल आ रही है। पन्नू कह रहा है कि 1929 में भगत सिंह ने भारत की आजादी के लिए पार्लियामेंट में बम फेंका था। तुम 29 नवंबर को ट्रैक्टर का हथियार लेकर खालिस्तान के केसरी झंडे लेकर भारत की संसद पर चढ़ा देना। ऐसा करने पर सिख फॉर जस्टिस सवा लाख डॉलर इनाम देगी। 29 नवंबर को खालिस्तान केसरी चढ़ा दो भारत की संसद पर... पंजाब, किसान, हल खालिस्तान।

पहले भी कई बार दे चुका है भड़काऊ भाषण


पन्नू पहले भी कई बार देश के खिलाऊ भड़काऊ भाषण दे चुका है। इसका मुख्यालय अमेरिका में है। उसने 15 अगस्त 2020 को खालिस्तानी झंडा लगाने पर अमेरिकी डॉलर इनाम देने की घोषणा की थी। युवाओं को केसरी झंडा किसी भी सार्वजिनक स्थान पर लगाने के आदेश दिए थे।

देश के टुकड़े टुकड़े करने की बात भी कह चुका

15 अगस्त 2020 में सिरसा के कालांवाली में चार युवाओं ने खालिस्तानी झंडा गांव सिंघुपरा के बस स्टॉप पर लगा दिया था। सिरसा पुलिस ने चार के खिलाफ मामला भी दर्ज किया था। इसमें से कुछ युवा नाबालिग थे। पन्नू कई बार खालिस्तान का नक्शा भी जारी कर चुका है, जिसमें पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कई जिलों को खालिस्तान का हिस्सा दिखा चुका है। देश के टुकड़े-टुकड़े करने की बात भी बोल चुका है।

Related Links