किसानों का 29 नवंबर का ट्रैक्टर मार्च स्थगित, मगर ये बनाई रणनीति

सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर किसानों की भीड़ ने शक्ति प्रदर्शन किया

सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर किसानों की भीड़ ने शक्ति प्रदर्शन किया



किसानों ने 29 नवंबर को होने वाला ट्रैक्टर मार्च स्थगित करने का फैसला किया है।

वेब ख़बरिस्तान,रेवाड़ी। किसानों ने 29 नवंबर को होने वाला ट्रैक्टर मार्च स्थगित करने का फैसला किया है। अब संयुक्त किसान मोर्चा की 4 दिसंबर को बैठक होगी। इसमें सरकार के रुख की समीक्षा करके अगली रणनीति बनाई जाएगी। सिंघु बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में ये फैसला लिया गया।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृषि कानूनों की वापसी के ऐलान और अब उस पर केंद्रीय कैबिनेट की मुहर लगने के बाद भी किसान आंदोलन फिलहाल जारी है। आंदोलन को एक साल पूरा होने पर शुक्रवार को सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर किसानों की भीड़ ने शक्ति प्रदर्शन किया। 29 नवंबर को शुरू हो रहे संसद सत्र के दौरान सिंघु और टीकरी बॉर्डर से 500-500 ट्रैक्टरों के साथ संसद कूच का ऐलान पहले से प्रस्तावित था, जिसे टाल दिया गया है।

सबसे बड़ी मांग एमएसपी की उठाई जा रही

दूसरी तरफ किसान नेताओं का कहना कि संसद में जब तक कानून निरस्त होने की प्रक्रिया पूरी नहीं होती और अन्य मांगों पर कोई फैसला नहीं होता, तब तक वे बॉर्डर पर डटे रहेंगे। किसान आंदोलन को जारी रखने की सबसे बड़ी मांग अब एमएसपी की उठाई जा रही है। इसे आंदोलन की शुरूआत से ही किसान अपनी मुख्य मांगों में शामिल किए हुए हैं।

Related Links