देश में आए 3 लाख 29 हजार 992 नए केस, गिरा कोरोना मरीजों का ग्राफ



पंजाब, ओडिशा, बंगाल, केरल और कर्नाटक जैसे डेढ़ दर्जन से ज्यादा राज्यों में मामले बढ़े, बिहार में गंगा में बहकर आए शव दफनाए

वेब ख़बरिस्तान। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र जैसे राज्यों में नए मामलों में गिरावट आई है। पंजाब, ओडिशा, बंगाल, केरल और कर्नाटक जैसे डेढ़ दर्जन से ज्यादा राज्यों में मामले बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के कुल 3,29,992 नए मामले सामने आए। एक्टिव मरीजों की संख्या में दो महीने बाद पहली बार 30 हजार की कमी देखने को मिली है। दूसरी लहर में एक दिन में सबसे अधिक 4,14,188 नए मामले सात मई को आए थे। आठ मई को 4,01,078, नौ मई को 4,03,738 और 10 मई को 3,66,161 नए मामले पाए गए। कोरोना से होने वाली दैनिक मौतों में भी कमी हो रही है। नौ मई को  4,092 की तुलना में 10 मई को 3,754 और 11 मई को 3,876 मौतें दर्ज की गईं। 

18 राज्यों में हालात सुधरे


केंद्रीय संयुक्त स्वास्थ्य सचिव लव अग्र्रवाल ने बताया कि18 राज्य या केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं, जहां केस में बढ़ोतरी या तो रुक गई है या उनमें कमी आ रही है।। इन राज्यों में महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश, हरियाणा, बिहार, उत्तराखंड, झारखंड और छत्तीसगढ़ शामिल हैं। उत्तर प्रदेश के लखनऊ, कानपुर और वाराणसी, बिहार के पटना और मध्य प्रदेश के भोपाल में नए मामलों में तेज गिरावट आ रही है जो अच्छा संकेत है। वहीं हिमाचल प्रदेश, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में केस में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है, जो चिंता का कारण है।

533 जिलों में हालत चिंताजनक

देश के 533 जिलों में अभी भी कोरोना संक्रमण दर 10 फीसद से अधिक बनी हुई है, जो चिंता का कारण है। इनमें से उत्तर प्रदेश के 38, मध्य प्रदेश के 45, बिहार के 33, हरियाणा के 22, पंजाब और झारखंड के 18-18, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के 12-12 और दिल्ली के 11 जिले शामिल हैं। 

बक्सर में गंगा से मिले 71 शव दफनाये

उधर, बिहार के बक्सर जिले के चौसा में महादेवा घाट और श्मशान घाट के बीच गंगा के तट पर बहकर आए 71 शव पोस्टमार्टम के बाद दफन कर दिए गए। डीएनए जांच के नमूने सुरक्षित रखे गए हैं। सोमवार की देर शाम जिलाधिकारी अमन समीर टीम के साथ महादेवा घाट पहुंचे। जेसीबी से श्मशान स्थल पर गड्ढों की खुदाई कराई गई। घाट पर प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस व चिकित्सकीय टीम के अलावा किसी को जाने की इजाजत नहीं थी। इलाके में लाइट भी बंद कर की दी गई थी। टार्च की रोशनी में पूरी प्रक्रिया चली। मीडिया को सुबह वहां जाने की इजाजत मिली। डीएम ने कहा कि शव बक्सर के नहीं हैं। कहीं और से बहकर यहां आए हैं। दरअसल, चौसा के पास सीमा क्षेत्र में गंगा की धारा का बहाव यूपी की ओर से आता है। हालांकि, स्थानीय लोगों का कहना था कि सभी शव दूसरे जिलों से बहकर नहीं आए हैं। तंगहाल स्थिति के कारण बहुत से स्थानीय लोग भी गंगा में शवों को प्रवाहित कर देते हैं। 

Related Links