नहीं टिक सके भाजपा के दिग्गज, बाबुल सुप्रियो 50 हजार के बड़े अंतर से हारे



सांसद लॉकेट चटर्जी, स्वपन दासगुप्ता, निशिथ प्रमाणिक को भी मिली हार

वेब खबरिस्तान। बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के आगे भाजपा के कई दिग्गज बुरी तरह हारे। सबसे बड़ी हार केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रीयो को मिली। इसके अलावा दो लोकसभा सांसद, एक पूर्व राज्यसभा सांसद सहित कई फिल्मी सितारे हार गए। बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री समेत चार सांसदों और आर्ट व स्पोर्टस वर्लड की कई सेलिब्रिटिज पर दांव खेला था, जो फेल साबित हुआ। कोलकाता की टॉलीगंज सीट पर ममता सरकार में खेल मंत्री अरूप विश्वास ने बाबुल सुप्रीयो को 50 हजार से ज्यादा वोटों से हराया। हुगली की सांसद व पूर्व अभिनेत्री लॉकेट चटर्जी भी चुंचुड़ा सीट से तृणमूल के हाथों 18 हजार से ज्यादा वोटों से हार गईं। कूचबिहार से सांसद निशिथ प्रमाणिक भी खबर लिखे जाने तक 514 वोटों से पीछे चल रहे थे। हुगली की तारकेश्वर सीट पर पूर्व राज्यसभा सांसद स्वप्न दासगुप्ता भी सात हजार से ज्यादा वोटों से हार गए। एकमात्र हुगली के राणाघाट से सांसद जगन्नाथ सरकार शांतिपुर से जीते हैं। पूर्व मेदिनीपुर की मोयना सीट से पूर्व भारतीय क्रिकेटर अशोक डिंडा और पूर्व सेना उपप्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल सुब्रत साहा (रिटायर्ड) को भी 21 हजार से ज्यादा वोटों से हार का सामना करना पड़ा।

सितारे जमीन पर


बेहला पश्चिम सीट पर अभिनेत्री श्रावंती चटर्जी हार गईं। अभिनेत्री पायल सरकार भी 1337 वोटों से हार गईं। अभिनेता रूद्रनील घोष को भी 28 हजार से ज्यादा वोटों से हार का सामना करना पड़ा। उलबेडिय़ा दक्षिण सीट पर अभिनेत्री पापिया अधिकारी भी हार गईं। इसी तरह हुगली की चंडीतल्ला सीट पर अभिनेता यशदास गुप्ता को  भी 41 हजार से ज्यादा वोटों से हार का सामना करना पड़ा। सिर्फ अभिनेता हिरण चटर्जी ने जीत हासिल करने में कामयाबी हासिल की।

पूर्व मंत्रि जो विधायक न बन सके

हावड़ा की डोमजूर सीट से 2016 विधानसभा चुनाव में एक लाख से भी ज्यादा वोटों से जीत दर्ज करने वाले राजीब बनर्जी को 42 हजार से ज्यादा वोटों से हार का सामना करना पड़ा। सिंगुर में भी पूर्व मंत्री रवींद्रनाथ भट्टाचार्य 25,923 वोटों से हार गए। 90 वर्षीय भट्टाचार्य टिकट नहीं मिलने पर भाजपा में शामिल हो गए थे। आसनसोल के पूर्व मेयर जितेंद्र तिवारी व विधाननगर के पूर्व मेयर व निवर्तमान विधायक सब्यसाची दत्ता को भी हार का सामना करना पड़ा।

Related Links