जेल से एम्स आया आसाराम, महिलाओं सहित बड़ी संख्या में समर्थक जुटे, पुलिस ने खदेड़ा



आसाराम के एम्स आने की खबर उनके समर्थकों को पहले ही मिल गई थी। अस्पताल के बाहर उन्हें खदेड़ने के लिए पुलिस को काफी सख्ती करनी पड़ी।

वेब खबरिस्तान, जोधपुर। आसाराम के एम्स आने की खबर उनके समर्थकों को पहले ही मिल गई थी। अस्पताल के बाहर उन्हें खदेड़ने के लिए पुलिस को काफी सख्ती करनी पड़ी। दुष्कर्म मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा आसाराम गुरु पूर्णिमा पर अपने समर्थकों को चेहरा दिखाने के लिए जेल से बाहर आ ही गया। तबीयत ठीक नहीं होने पर जांच के लिए उसे शनिवार को एम्स लाया गया। लेकिन इसकी सूचना उसके समर्थकों के पहले ही पहुँच गई । बड़ी संख्या में समर्थक एम्स के बाहर जुटना शुरू हो गए। कोई गड़बड़ी न हो इसलिए पुलिस ने उन्हें खदेड़ना शुरू किया।

जेल के बाहर भी समर्थक आ डटे


जोधपुर जेल के बाहर भी भारी संख्या में समर्थक आ डटे। जब पुलिस का वाहन आसाराम को लेकर निकला तो समर्थक उसकी एक झलक देखने के लिए बेकाबू हो गए। पुलिस की ओर से डंडे फटकार कर उन्हें वहां से भगा दिया गया। भगदड़ में कई महिलाएं गिर पड़ीं। इनमें से कुछ महिलाओं को चोटें भी आई हैं।

पहले बहाना बनाकर नहीं आया

उसे कड़ी सुरक्षा में एम्स लाया गया। यहां उसकी एमआरआई की गई। इसके अलावा कुछ और जांच होनी हैं। आसाराम ने इलाज के लिए गुरु पूर्णिमा का दिन चुना। दरअसल उसे दो दिन पहले एम्स लाया जाना था, लेकिन बहाने बनाकर वह नहीं आया। जबकि शनिवार को वह खुद आने को तैयार हो गया। गुरु पूर्णिमा पर उसके दर्शन के लिए समर्थक सुबह से ही एम्स के बाहर जुट गए। हर गुरु पूर्णिमा को आसाराम समर्थक जेल के बाहर इकट्‌ठा होकर पूजा करते रहे हैं।

2013 में इंदौर से हुआ था गिरफ्तार

गुरुकुल में पढ़ने वाली एक नाबालिग छात्रा का यौन उत्पीड़न करने के मामले में आसाराम को 2013 में जोधपुर पुलिस इंदौर से गिरफ्तार कर लाई थी। तब से वह यहां की जेल में बंद है। साल 2018 में उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी।

Related Links