कृषि कानूनों का एक साल पूरा होने पर अकाली दल को 'मार्च' की अनुमति नहीं मिली



​​​​​​​धारा 144 लागू, दो मेट्रो स्टेशन बंद, रकाब गंज गुरुद्वारा के बाहर जुटे प्रदर्शनकारी

वेब ख़बरिस्तान, नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों का एक साल पूरा हो गया है। ऐसे में 'ब्लैक फ्राइडे प्रोटेस्ट मार्च' में शामिल होने दिल्ली आ रहे अकाली दल के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बॉर्डर पर ही रोक दिया है। दिल्ली पुलिस ने भी ट्रैफिक अलर्ट जारी किया है। झाड़ोदा कलां बॉर्डर पर दोनों रास्ते किसान आंदोलन की वजह से बैरिकेडिंग लगाकर बंद कर दिए गए हैं।

अकाली दल के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने झाड़ोदा बॉर्डर बंद कर दिया है। मेट्रो में पगड़ीधारियों व कुर्ता पायजामा पहने व संदिग्ध व्यक्तियों का प्रवेश रोक दिया गया। पंडित श्रीराम मेट्रो स्टेशन व बहादुरगढ़ सिटी मेट्रो स्टेशन में यात्रियों का प्रवेश और यहां ट्रेनों का ठहराव रोक दिया गया है। सुबह के वक्त भी बहादुरगढ़ सिटी व ब्रिगेडियर होशियार सिंह मेट्रो स्टेशन पर काफी गहन चेकिंग व पूरी पूछताछ के बाद ही यात्रियों को प्रवेश दिया गया। इससे दोनों स्टेशनों पर स्थिति बार-बार बिगड़ती रही। अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने भी दिल्ली जाने के लिए काफी हंगामा किया लेकिन भारी पुलिस बल व अर्धसैनिक बल जवानों की तैनाती के कारण मेट्रो स्टेशनों में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।


शिरोमणि अकाली दल के मार्च को देखते हुए दिल्ली के शंकर मार्ग इलाके में भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं, ताकि यह मार्च संसद भवन तक न पहुंच सके। किसान आंदोलन के चलते बंद किए गए सरदार पटेल मार्ग को अब ट्रैफिक की आवाजाही के लिए खोल दिया गया है।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने जानकारी दी है कि पंडित श्रीराम शर्मा और बहादुरगढ़ सिटी मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार को किसान आंदोलन के चलते एहतियातन बंद कर दिया गया है। जिला नई दिल्ली के डीसीपी दीपक यादव ने बताया कि कुछ लोग रकाब गंज गुरुद्वारा के पास जमा होकर प्रदर्शन कर रहे हैं। हम इनके नेताओं से बातचीत में लगे हैं और साफ तौर पर उन्हें यह जानकारी दे दी है कि उन्हें प्रदर्शन करने की कोई इजाजत नहीं दी गई है।

 

Related Links