देश के विकास हम अपनी  मातृभाषा को पूर्ण रूप से अपनाकर कर सकते है -  राज्यपाल

सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र



ख़बरिस्तान नेटवर्क, धर्मशाला। हिमाचल के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर आज कांगड़ा जिला के धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग तथा भारतीय शिक्षण मंडल के संपर्क विभाग के संयुक्त तत्वावधान में "राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: हिंदी एवं भारतीय भाषाओं के विकास के लिए आयोजित कार्यक्रम में अपने विचार प्रगट किये।  


आर्लेकर ने कहा कि वर्तमान शिक्षा नीति हमें केवल नौकरी मांगने वाला बनाती है नौकरी देने वाला नहीं। वर्तमान शिक्षा नीति युवाओं को जमीन से नहीं जुड़ती है लेकिन, इस के विपरीत राष्ट्रीय शिक्षा नीति हमें किस दिशा में जाना है, हमें बताती है। राजनीति आजादी मिलने के बाद दुनिया को हमसे कुछ अपेक्षाएं थी।  लेकिन, हम अन्य देशों की ओर देखने लगे। हम दुनिया का मार्गदर्शन कर सकते थे लेकिन हम अपना गौरवशाली इतिहास भूल चुके थे। इसका कारण पहले से मौजूद मानसिकता की थी। अनेक वर्षों के बाद अब राष्ट्रीय शिक्षा नीति आई है जो हमारा मार्ग दर्शन कर सकती है। 

Related Tags


himachal govt Rajendra Vishwanath Arlekar himachal news

Related Links


webkhabristan