देश

अहम ख़बरः देश के इन बड़े तीन बैंकों के 1 फरवरी से बदल जाएंगे नियमपैसे ट्रांसफर करने पर लगेगा इतना चार्ज

अहम ख़बरः देश के इन बड़े तीन बैंकों के 1 फरवरी से बदल जाएंगे नियम,पैसे ट्रांसफर करने पर लगेगा इतना चार्ज

अगर आपका अकाउंट पंजाब नेशनल बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया या बैंक ऑफ बड़ौदा में है तो ये आपके लिए जरूरी ख़बर है।

जम्मू-कश्मीर शोपियां मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया अन्य की तलाश के लिए सुरक्षाबलों ने इलाके को घेरा

जम्मू-कश्मीर: शोपियां मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, अन्य की तलाश के लिए सुरक्षाबलों ने इलाके को घेरा

आतंकियों की सूचना के बाद कालबिल इलाके में सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान चलाया, पूरे इलाके में सुरक्षाबलों का सख्त पहरा है


5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर चुनाव आयोग की बैठक हुई, रैलियों, रोड शो को लेकर ये लिया बड़ा फैसला, पढ़ें ख़बर

5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर चुनाव आयोग की बैठक हुई, रैलियों, रोड शो को लेकर ये लिया बड़ा फैसला, पढ़ें ख़बर

वेब ख़बरिस्तान,जालंधर। देश में पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर केंद्रीय चुनाव आयोग की बैठक हुई। इसमें चुनावी रैलियों, जुलूस और रोड शो पर पाबंदियां ​​​​जारी रखने पर सहमति बनी है। रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि बैन हफ्ते भर बढ़ा दिया गया है। हफ्ते के लिया बढ़ा बैन बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव समेत राज्यों के अधिकारी भी शामिल हुए हैं। 8 जनवरी को पांच राज्यों में चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक रैलियों और जनसभाओं पर रोक लगाई थी। जिसे बाद में 22 जनवरी तक बढ़ा दिया गया था। अब इसे एक बार फिर बढ़ाया गया है। गौर हो कि यह बैठक आयोग द्वारा पांच चुनावी राज्यों में सार्वजनिक रैलियों और रोड शो पर प्रतिबंध 15 जनवरी से 22 जनवरी तक एक सप्ताह के लिए बढ़ाए जाने के कुछ दिनों बाद हुई है। आयोग ने, हालांकि, राजनीतिक दलों को 300 लोगों या स्थल की क्षमता के 50 प्रतिशत के साथ इनडोर बैठकें करने की अनुमति दी है। 15 जनवरी को चुनाव आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और पांच चुनाव वाले राज्यों के मुख्य चुनाव अधिकारियों, मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों के साथ वर्चुअल बैठकें की थीं। चुनाव आयोग के एक बयान में कहा गया था कि तीन सदस्यीय आयोग ने वर्तमान स्थिति और कोविड महामारी के अनुमानित रुझानों की व्यापक समीक्षा की, जिसमें पांच चुनावी राज्यों पर विशेष ध्यान दिया गया था।

https://webkhabristan.com/desh/election-commission-meeting-today--5755
नहीं थम रहा नक्सलियों का आतंक, सैनिक के शव को सड़क किनारे फेंका, कई वाहन फूंके

नहीं थम रहा नक्सलियों का आतंक, सैनिक के शव को सड़क किनारे फेंका, कई वाहन फूंके

वेब ख़बरिस्तान। छत्तीसगढ़ के जिले बीजापुर में नक्सली लगातार अपना आतंक फैला रहे है। बीती रात नक्सलियों ने एक गोपनीय सैनिक की हत्या कर उसके शव को नया पुलिस लाइन और सीआरपीएफ 85 बटालियन हेडक्वार्टर के करीब फेंक दिया। बहरहाल पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है। एसपी कमलोचन कश्यप ने पूरी घटना की पुष्टि की है। गोपनीय सैनिक थे एंडो राम पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जिले के बीजापुर थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने शुक्रवार को 'गोपनीय सैनिक' एंडो राम (45) की हत्या कर दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि नक्सलियों ने एंडो राम की हत्या कर शव को गंगालूर मार्ग पर फेंक दिया है, जिसके बाद पुलिस दल को रवाना किया गया और शव को बरामद कर लिया गया। ASP पंकज शुक्ला ने बताया कि नक्सलियों ने हत्या करने के बाद शव को सड़क किनारे फेंक दिया था। पुलिस द्वारा आज सुबह गंगालूर मार्ग से गोपनीय सैनिक का शव बरामद किया गया। अब पुलिस द्वारा इस मामले की विवेचना की जा रही है। नक्सलियों ने 15 गाड़ियों को जलाया था शुक्रवार को नक्सलियों ने जिले में काफी उत्पात मचाया था। नक्सलियों ने दो अलग-अलग घटनाओं में 15 गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था। सभी गाड़ियां सड़क निर्माण के काम में लगी हुई थी। वाहन में आग लगाने के बाद वाहन चालक और कार्य में लगे कर्मियों को नक्सलियों ने चेतावनी देने के बाद छोड़ दिया था। गोपनीय सैनिक थे एंडो राम पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जिले के बीजापुर थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने शुक्रवार को 'गोपनीय सैनिक' एंडो राम (45) की हत्या कर दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि नक्सलियों ने एंडो राम की हत्या कर शव को गंगालूर मार्ग पर फेंक दिया है, जिसके बाद पुलिस दल को रवाना किया गया और शव को बरामद कर लिया गया। ASP पंकज शुक्ला ने बताया कि नक्सलियों ने हत्या करने के बाद शव को सड़क किनारे फेंक दिया था। पुलिस द्वारा आज सुबह गंगालूर मार्ग से गोपनीय सैनिक का शव बरामद किया गया। अब पुलिस द्वारा इस मामले की विवेचना की जा रही है।

https://webkhabristan.com/desh/the-terror-of-naxalites-is-not-stopping-the-soldiers-body-is-thrown-on-the-roa-5765
24 घंटे में कोरोना के 3,37,704 नए मामले सामने आए,  यह आंकड़ा कल के मुकाबले 9,550 केस कम

24 घंटे में कोरोना के 3,37,704 नए मामले सामने आए, यह आंकड़ा कल के मुकाबले 9,550 केस कम

वेब खबरिस्तानः देश में कोरोना का प्रकोप दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। कोरोना के बढ़ते आंकड़े देश में तीसरी लहर का भी संकेत दे रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,37,704 नए मामले सामने आए हैं। हालांकि यह आंकड़ा कल के मुकाबले 9,550 केस कम हैं। भारत में पिछले 24 घंटे में 2,42,676 कोरोना मरीज ठीक भी हुए हैं। कुल रिकवरी की बात की जाए तो यह आंकड़ा अब 3,63,01,482 पर पहुंच गया है। वहीं मौत के आंकड़े में भी कमी आई है, 24 घंटे में 488 लोगों ने अपनी जान गंवाई है और कुल मौतों की संख्या 4,88,884 पर आ गई है। कल कोरोना से 703 लोगों की मौत हुई थी। अब कोरोना के कुल एक्टिव केसों की संख्या 21,13,365 हो गई है। ओमिक्रोन के कुल मामले 10,050 पहुंचेबता दें कि भारत में कोरोना के ओमिक्रोन वैरियंट के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। ओमिक्रोन के कुल मामले अब 10,050 पर पहुंच गए है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार कल कोरोना वायरस के लिए 19,60,954 सैंपल टैस्ट किए गए थे, कुल टैस्ट की बात की जाए तो कल तक कुल 71,34,99,892 सैंपल टैस्ट किए जा चुके हैं।

https://webkhabristan.com/desh/337704-new-cases-of-corona-were-reported-in-24-hours-5749
मुंबई के इस इलाके में 20 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, दो लोगों की मौत हुई, पढ़िए ख़बर

मुंबई के इस इलाके में 20 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, दो लोगों की मौत हुई, पढ़िए ख़बर

वेब ख़बरिस्तान,नई दिल्ली। मुंबई से बड़ी खबर सामने आ रही है। यहाँ एक 20 मंजिला इमारत में आग लग गई है। इसमें दो लोगों की मौत हो गई है जबकि 19 लोग झुलस गए हैं। बताया जा रहा है कि जान गंवाने वाले दोनों लोग बुजुर्ग थे। मुंबई के ताड़देव इलाके की 20 मंजिला इमारत कमला सोसायटी की 18वीं मंजिल पर यह आग लगी है। आग की भीषण स्थिति को देखते हुए इसे लेवल 4 की आग कहा गया है। दमकल की 13 गाड़ियों मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है। 19 लोगों को रेस्क्यू किया आग से फैले धुएं के कारण राहत कर्मियों को अंदर पहुंचने में दिक्कत आ रही है। अभी तक 19 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है। प्रशासन की ओर से 15 लोगों को भाटिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां 3 लोगों की हालत क्रिटिकल है। उन्हें ICU में रखा गया है। बाकी 12 लोग सामान्य जख्मी हैं और उन्हें जनरल वार्ड में रखा गया है। आग लगने के कारणों का पता नहीं चला इनके अलावा 4 गंभीर रूप से झुलसे हुए लोगों को नायर अस्पताल ले जाया गया, जहां दो लोगों को मृत घोषित कर दिया गया। जबकि बाकी दो का इलाज चल रहा है। फिलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है।

https://webkhabristan.com/desh/a-massive-fire-broke-out-in-a-20-storey-building-in-this-area-of-​​mumbai-two-p-5747
खालसा टीवी औऱ पंजाब वायरल समेत 35 यूट्यूब चैनल और दो वेबसाइट सरकार ने की बंद

खालसा टीवी औऱ पंजाब वायरल समेत 35 यूट्यूब चैनल और दो वेबसाइट सरकार ने की बंद

वेब ख़बरिस्तान। भारत सरकार ने देश के खिलाफ सोशल मीडिया पर फेक न्यूज का प्रचार करने वालों पर कार्रवाई की है। सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर की चेतावनी के अगले ही दिन सरकार ने 35 यूट्यूब चैनल, 2 ट्विटर अकाउंट, 2 इंस्टाग्राम अकाउंट, 2 वेबसाइट और एक फेसबुक अकाउंट ब्लॉक किए हैं। ये कार्रवाई IT नियमों के तहत की गई है। ये सभी अकाउंट पाकिस्तान से ऑपरेट हो रहे थे।केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सेक्रेटरी अपूर्व चंद्रा और जॉइंट सेक्रेटरी विक्रम सहाय ने शुक्रवार को पत्रकारों को जानकारी दी। विक्रम सहाय ने कहा कि 20 जनवरी को मंत्रालय को मिली खुफिया जानकारी के आधार पर हमने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर एक्शन लिया है। ये सभी फेक न्यूज और भारत विरोधी प्रोपेगैंडा फैला रहे थे। वहीं, अपूर्व चंद्रा ने बताया कि ब्लॉक यूट्यूब चैनलों के पास 1.2 करोड़ सब्सक्राइबर और 130 करोड़ से ज्यादा व्यूज थे। एजेंसियां रख रही थीं नजर भारतीय खुफिया एजेंसियां इन सोशल मीडिया अकाउंट्स और वेबसाइटों पर नजर रख रही थीं। ये देखा गया कि ये सभी नेटवर्क झूठी खबरें फैलाकर भारतीयों को गुमराह करने के मकसद से चलाए जा रहे थे। ये चैनल एक नेटवर्क का हिस्सा थे और कॉमन हैशटैग और एडिटिंग स्टाइल का इस्तेमाल कर रहे थे। इन्हें आम लोग ही चला रहे थे। ये सभी एक-दूसरे के कंटेंट को प्रमोट भी कर रहे थे। कुछ यूट्यूब चैनल पाकिस्तानी टीवी न्यूज चैनलों के एंकर चला रहे थे। सरकार ने दी थी कार्रवाई की चेतावनी एक दिन पहले वीरवार को सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने चेतावनी दी थी कि देश के खिलाफ साजिश करने वालों पर इस तरह की कार्रवाई जारी रहेगी। अनुराग ठाकुर ने कहा था कि भारत विरोधी कंटेंट फैलाने और साजिश रचने वाले वेबसाइट्स-चैनलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। ब्लॉक चैनल की लिस्ट 1. The Punch Line2. InternationalWeb News3. Khalsa TV4. The Naked Truth5. News246. 48 News7. Fictional8. Historical Facts9. Punjab Viral10. Naya Pakistan Global11. Cover Story12. Go Global eCommerce13. Junaid Haleem Official14. Tayyab Hanif15. Zain Ali Official16. Mohsin Rajput Official17. Kaneez Fatima18. Sadaf Durrani19. Mian Imran Ahmad20. Najam Ul Hassan Bajwa

https://webkhabristan.com/desh/india-government-blocked-khalsa-tv-punjab-viral-and-35-other-youtube-channel--5746
आपके घर में भी बच्चे हैं तो जरूर पढ़ें सरकार द्वारा जारी की गयी नई गाइडलाइन

आपके घर में भी बच्चे हैं तो जरूर पढ़ें सरकार द्वारा जारी की गयी नई गाइडलाइन

वेब ख़बरिस्तान। देश में कोरोना संक्रमण की दर बढ़ने से संक्रमित मरीजों की संख्या में एक बार फिर उछाल देखने को मिल रहा है और इस बार बच्चे भी संक्रमित हो रहे हैं। ऐसे में इससे बचाव के लिए लगातार मास्क लगाने के कारण बॉडी पर साइड इफेक्ट्स भी हो रहे हैं और इन्ही को लेकर केंद्र सरकार द्वारा नई गाइडलाइंस जारी की गयी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नई गाइडलाइंस में खासतौर पर बच्चों के मास्क प्रोटोकॉल को स्पष्ट किया है। साथ ही उनके कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आने पर किए जाने वाले इलाज का प्रोटोकॉल भी बता दिया है। माता-पिता की देखरेख में लगाएं बच्चों को मास्क नई गाइडलाइन में कहा गया है कि 6-11 वर्ष की आयु के बच्चे माता-पिता की प्रत्यक्ष देखरेख में सुरक्षित और उचित तरीके से मास्क का उपयोग कर सकते हैं। वहीँ 18 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए एंटी वायरल या मोनोक्लोनल एंटीबॉडी के इस्तेमाल की सिफारिश नहीं की जाती है, भले ही कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता कुछ भी हो। 12 साल से बड़े बच्चों के लिए मास्क बहुत जरूरी सरकार द्वारा जारी की गयी नई गाइडलाइन के मुताबिक 12 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों को वयस्कों की तरह ही मास्क पहनना चाहिए। मंत्रालय ने कहा कि अन्य देशों के उपलब्ध आंकड़ों से पता चलता है कि ओमिक्रोन वेरिएंट के चले कोविड-19 की गंभीरता कम होती है, लेकिन महामारी की लहर के कारण सावधानीपूर्वक निगरानी की जरूरत है। इसलिए 12 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों को मास्क पहनना बेहद जरूरी है। यह है नई गाइडलाइंस में मास्क प्रोटोकॉल - 5 साल और उससे कम उम्र के बच्चों के लिए मास्क जरूरी नहीं - 12 वर्ष और उससे अधिक उम्र के बच्चे वयस्कों के रूप में मास्क का उपयोग कर सकते हैं - 18 वर्ष से कम उम्र के लोगों के लिए एंटीवायरल मोनोक्लोनल एंटीबॉडी की सिफारिश नहीं की जाती है। बच्चों के इलाज के लिए इस्तेमाल न हों स्टेरॉयड्स मंत्रालय ने कहा है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के कारण संक्रमित होने वालों की संख्या बढ़ी है, लेकिन इसके कारण गंभीर बीमार होने वालों की संख्या बेहद कम है। मंत्रालय के मुताबिक, 18 साल से कम उम्र के बच्चों की कोरोना संक्रमण के कारण कितनी भी गंभीर हालत क्यों न हो, उन्हें किसी भी तरह का एंटीवायरल स्टेरॉयड या मोनोक्लोनल एंटीबॉडी नहीं दिया जाना चाहिए। खासतौर पर बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीजों के लिए स्टेरॉयड्स का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं करने की सलाह दी है।

https://webkhabristan.com/desh/if-you-have-children-in-your-house-then-definitely-read-the-new-guideline-issued-5741
ब्रेकिंग न्यूज़ - दिल्ली में नहीं हटेगा वीकेंड कर्फ्यू, बाजार भी पूरी तरह नहीं खुलेंगे,राज्यपाल ने नहीं दी मंजूरी

ब्रेकिंग न्यूज़ - दिल्ली में नहीं हटेगा वीकेंड कर्फ्यू, बाजार भी पूरी तरह नहीं खुलेंगे,राज्यपाल ने नहीं दी मंजूरी

वेब खबरिस्तानः दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के घटते मामलों के बीच सीएम अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल को वीकेंड कर्फ्यू हटाने और दुकानों के लिए ऑड-इवन के नियम को खत्म करने प्रस्ताव दिया था। मगर उपराज्यपाल ने सभी प्रस्ताव मानने से इनकार कर दिया है। जानकारी सामने आ रही थी कि दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार ने छूट के इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इसके बाद प्रस्ताव को मंजूरी के लिए दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास भेजा गया था। 50 फीसदी मामले कम हुए गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहले भी कई बार कह चुके हैं कि कोरोना के मामले कम हुए तो प्रतिबंधों में छूट का ऐलान किया जा सकता है। वहीं, शुक्रवार को दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि दिल्ली कोरोना के मामले एक सप्ताह से कम हो रहे हैं। इस दौरान अब तक 50 फीसद मामले कम हो गए हैं। इसलिए कोरोना के मामले चरम पर पहुंचने के बाद घटकर आधे रह गए हैं लेकिन खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है, इसलिए कोरोना की रोकथाम के लिए लगाई गई पाबंदियों में राहत के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना के मामले 28 हजार से अधिक व संक्रमण दर 30 फीसद से अधिक पहुंच गई थी। इसकी तुलना में मामले अब आधे रह गए हैं। संक्रमण दर भी घटकर 22-24 फीसद पर आ गई है। इसलिए ऐसा लग रहा है कि दिल्ली में कोरोना के संक्रमण का चरम खत्म हो गया है और मामले कम हो रहे हैं। थोड़े दिन में संक्रमण दर और कम होने की संभावना है।

https://webkhabristan.com/desh/with-the-end-of-weekend-curfew-in-delhi-relaxation-in-many-other-restrictions--5724
पिता की जायदाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने लिया अहम फैसला, इन हालातों में भी मिलेगा बेटी को भी अधिकार

पिता की जायदाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने लिया अहम फैसला, इन हालातों में भी मिलेगा बेटी को भी अधिकार

वेब ख़बरिस्तान। अक्सर ये देखने को मिलता है की माता-पिता की जायदाद के लिए उनके बच्चों में आपसी लड़ाई- झगड़ा होता रहता है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा बदलाव किया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि बिना वसीयत के मरने वाले पिता के वारिस उसकी संपत्ति के समान हकदार होंगे। बेटी का भी होगा समान अधिकार सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर पिता की इकलौती संतान बेटी है, तो उसे पूरी संपत्ति विरासत में मिलेगी। यहाँ यह स्पष्ट किया गया है कि पुत्र पर पिता के भाई का कोई अधिकार नहीं होता। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पिता की संपत्ति में बेटी का उतना ही अधिकार है जितना कि बेटे का। पेश किया गया 51 पन्नो का फैसला सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पिता की मृत्यु हो जाने के बाद अगर पिता की वसीयत नही बनी हुई है, तो उस स्थिति में पिता की सारी संपत्ति उनके बच्चों में बराबर बांट दी जाएगी। इस बारे में जस्टिस एस अब्दुल नजीर और जस्टिस कृष्ण मुरारी की पीठ ने 51 पन्नों का एक फैसला पेश किया है और कहा कि आदमी को वरीयता देते हुए ऐसी संपत्ति का वारिस होने का हकदार होगा। वहीँ अगर कोई हिंदू महिला बिना वसीयत के मर जाती है, तो उस स्थिति में महिला को पिता या माता से विरासत में मिली संपत्ति उसके पिता के वारिसों के पास जाएगी जबकि उसके पति या ससुर से विरासत में मिली संपत्ति उसके वारिसों को मिलेगी। मद्रास उच्च न्यायालय के मामले को खारिज करने के फैसले के खिलाफ अपील पर यह फैसला आया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि चूंकि विचाराधीन संपत्ति एक पिता की स्व-अर्जित संपत्ति थी, उसकी मृत्यु के बाद परिवार के पुनर्मिलन के बावजूद, उसकी इकलौती संतान को उत्तराधिकार और संपत्ति उत्तरजीविता द्वारा प्रतिस्थापित नहीं किया जाएगा।

https://webkhabristan.com/desh/supreme-court-took-important-decision-regarding-fathers-property-5734