नाबालिग बेटी के सामने 28 साल की महिला ने पति का गला घोंटा और शव रसोई में दफनाया



किसने की महिला की मदद और कैसे पकड़ी गई शातिर कातिल, पढ़िए जुर्म की इस कड़ी में

वेब ख़बरिस्तान। ये कहानी है इश्क में अंधी एक औरत की, जिसने अपना हंसता खेलता परिवार बर्बाद कर लिया। हाल ही में मुंबई में दिल दहला देने वाला ये मामला सामने आया जहां महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या की और फिर शव घर की रसोई में दफन कर दिया। 

पुलिस ने मंगलवार को खुलासा किया कि मुंबई के दहिसर में रहने वाली 28 साल की रशीदा शेख ने अपने प्रेमी अमित विश्वकर्मा की मदद से पति रईस शेख की हत्या की और फिर उसके शव को घर की रसोई में दफना दिया। इस वारदात का और भी विचलित करने वाला पहलू ये है कि रशीदा शेख ने नाबालिग बेटी के सामने पति की गला घोंटा। कोई महिला इतनी निर्दयी कैसे हो सकती है। 

बेटी के सामने की हत्या


रिपोर्ट्स के मुताबिक ये घटना 12 दिन पहले दहिसर (पूर्व) के रावल पाड़ा इलाके की है।  रशीदा ने प्रेमी अमित के साथ मिलकर पति की नाइलान की रस्सी से गला घोंटकर हत्या की। दोनों ने शव लिफाफे में डाला और घर की रसोई में फर्श खोदकर दफना दिया। दोनों ने दोबारा ऊपर सीमेंट का फर्श भी बिछा दिया। 

पड़ोसी ने लिखाई गुमशुदगी की रिपोर्ट

रशीदा ने खुद पुलिस के पास रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि पति ग्रामेंट्स शॉप पर काम करता है और 25 मई से घर नहीं लौटा। पुलिस जब जांच के लिए घर पहुंची तो उनकी नजर रसोई के नए फर्श पर पड़ी जब रशीदा से पूछा गया तो वह कुछ जवाब न दे सकी। जब फर्श उखाड़ा गया तो नीचे बड़ा गड्ढा और लाश मिली। पुलिस के मुताबिक रशीदा ने बताया कि जब वे फर्श खोद रहे थे तो बच्चे सो रहे थे। आवाज सुनकर वे जागे तो उसने ऊंची आवाज में टीवी लगा दिया था। 

बच्चों के सामने हुई हत्या

पुलिस का कहना है कि बच्चों को हत्या का पता था लगता है उन्हें मां ने धमकाया था। मोहल्ले के लोगों ने बताया कि जब पुलिस जांच करने घर पहुंची तो इस दौरान बेटी के दिल में पिता का दर्द जागा और वह रोने लगी। उसने मां की इस घिनौनी करतूत के बारे में पुलिस को सब सच-सच बता दिया। हत्या के बाद से अमित फरार है। अमित सिक्योरिटी गार्ड था। रशीदा के दो बच्चे हैं और नौ साल पहले उनकी शादी हुई थी। वह अमित के साथ रहना चाहती थी, जिस कारण उसने पति की हत्या की। 

Related Links