सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर दफनाए हथियार, गोल्डी बराड़ के जीजा से पूछताछ

लारेंस बिश्नोई फाईल फोटो।

लारेंस बिश्नोई फाईल फोटो।



हत्याकांड में पहले गिरफ्तार पवन बिश्नोई और नसीब खान से पूछताछ में मानसा पुलिस के सामने किया खुलासा

खबरिस्तान नेटवर्क। सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में बड़ा खुलासा हुआ है। मूसेवाला के कत्ल में इस्तेमाल हथियारों का पता चल गया है। ये हथियार मानसा से सटे पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर दफनाए गए हैं। हत्याकांड में पहले गिरफ्तार पवन बिश्नोई और नसीब खान से पूछताछ में मानसा पुलिस को यह पता चला है। हालांकि किस जगह पर दफनाए गए, इसके बारे में पड़ताल की जा रही है। 


सिद्धू मूसेवाला की हत्या के केस में पंजाब पुलिस को अहम सुराग मिला है। पुलिस होशियारपुर जेल से गैंगस्टर गुरप्रीत गोरा को खरड़ लेकर आई है। लॉरेंस बिश्नोई ने पूछताछ में गोरा का नाम लिया है। गोरा कैनेडा बैठे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ का जीजा है। गुरप्रीत को होशियारपुर जेल से खरड़ पूछताछ के लिए लाया गया है।

लारेंस कहां पता नहीं

लॉरेंस कहां है, इसकी पुष्टि नहीं की जा सही है। उससे एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स मूसेवाला हत्याकांड में पूछताछ कर रही है। लॉरेंस के करीबी गोल्डी बराड़ के दो गुर्गों को भी पुलिस 2 जगहों पर लेकर गई है, जिनसे मूसेवाला हत्याकांड में इस्तेमाल वैपन रिकवर करवाए जा सकते हैं।

सात दिन के रिमांड पर लॉरेंस

मानसा कोर्ट ने लॉरेंस को 7 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है। लॉरेंस को लेकर पंजाब पुलिस मंगलवार रात करीब साढ़े 8 बजे दिल्ली से निकली। पानीपत, सोनीपत और करनाल के रास्ते सुबह साढ़े 3 बजे पुलिस मानसा पहुंची।पुलिस ने सुबह 4 बजे उसका मेडिकल चेकअप कराया। सुबह साढ़े 4 बजे ही कोर्ट में पेश कर पुलिस ने उसका रिमांड ले लिया। उसे पूछताछ के लिए पहले मोहाली के खरड़ स्थित CIA स्टाफ ऑफिस लाया गया है। पहले यहां पूछताछ हुई। इसके बाद पुलिस के 2 काफिले अलग-अलग दिशा में निकल गए।

Related Tags


Weapons buried on Punjab-Haryana border after Sidhu Musewala's murder

Related Links