जुर्म

लडकियों के स्कूल पर हमले से कांप उठा अफगानिस्तान 68 तक पहुंचा मौतों का आंकड़ा

लडकियों के स्कूल पर हमले से कांप उठा अफगानिस्तान, 68 तक पहुंचा मौतों का आंकड़ा

गनी ने तालिबान पर लगाया हमले का आरोप, आतंकी संगठन ने किया इन्कार, अमेरिका और यूनीसेफ ने की आलोचना

दिल्ली में अफगानी पाब्लो एस्कोबार गिरफ्तार सवा क्विंटल हेरोइन के साथ दंपती गिरफ्तार

दिल्ली में अफगानी पाब्लो एस्कोबार गिरफ्तार, सवा क्विंटल हेरोइन के साथ दंपती गिरफ्तार

कार में हेरोइन की खेप लेकर पहुंचे थे, दिल्ली के वजीराबाद से पंजाब भेजी जाती है हेरोइन


सात लाख रुपए देकर बुलाई थाइलैंड की युवती की कोरोना से मौत, एंबेसी के दखल के बावजूद नहीं बच सकी जान

सात लाख रुपए देकर बुलाई थाइलैंड की युवती की कोरोना से मौत, एंबेसी के दखल के बावजूद नहीं बच सकी जान

वेब ख़बरिस्तान। लखनऊ में नेता के बेटे की करतूत ने पूरे समाज को शर्मिंद कर दिया है। नेता के बेटे ने सात लाख रुपये में थाइलैंड की युवती को लखनऊ बुलाया था। युवती को हजरतगंज में ठहराया गया था। युवती में कोरोना के लक्षण मिले और पाजेटिव आने के बाद उसे 28 अप्रैल को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था। थाइलैंड निवासी युवती की तीन मई को मौत हो गई। लड़की दिल्ली से लखनऊ आई थी और तबीयत बिगड़ने पर राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती हुई थी। रकाबगंज निवासी सलमान युवती की अस्पताल में देखरेख कर रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इंस्पेक्टर विभूतिखंड चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि युवती के गाइड सलमान के सामने थाइलैंड दूतावास से अनुमति लेकर पांच मई को उसका दाह संस्कार करवाया गया। इंस्पेक्टर ने युवती को किसने और क्यों बुलाया था, इस बारे कुछ नहीं कहा। पुलिस मामले में चुप लोहिया अस्पताल के रजिस्टर में युवती ने हजरतगंज का पता दर्ज कराया था। हजरतगंज पुलिस भी मामले में चुप है। नियम के तहत कोई भी विदेशी अगर किसी होटल में ठहरता है तो इसकी जानकारी होटल प्रशासन संबंधित थाने में देता है। यहां ऐसा नहीं किया गया। युवती कहां ठहरी है, इसका पूरा ब्योरा भी अस्पताल के रजिस्टर में दर्ज नहीं , इससे कई सवाल खड़े हो गए हैं। परिचित के कहने पर की थी मदद मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सलमान ने बताया कि 28 अप्रैल को युवती अस्पताल में भर्ती हुई थी। युवती ने रायपुर में अपने परिचित राकेश शर्मा से फोन कर मदद मांगी थी। युवती ने कहा था कि - उसे कोविड के लक्षण हैं और लखनऊ में उसका कोई परिचित नहीं है, जो उसकी देखभाल कर सके। राकेश ने सलमान को फोन कर युवती की मदद के लिए कहा था। तबीयत बिगडऩे पर सलमान ने थाइलैंड दूतावास को सूचित किया था। तब दूतावास ने युवती को वापस ले जाने की बात की थी। हालांकि आक्सीजन लेवल कम होने की वजह से उसे थाइलैंड नहीं ले जाया जा सका। तीन मई को युवती ने दम तोड़ दिया। वीडियो कॉल पर युवती के घरवालों ने पूजा-पाठ किया था, जिसके बाद अंतिम संस्कार हुआ। युवती मार्च में थाइलैंड से भारत आई थी।

https://webkhabristan.com/crime/thailand-girl-death-due-to-corona-in-uttar-pradesh-1743
कार में दम घुटने से चार मासूम बच्चों की हुई मौत

कार में दम घुटने से चार मासूम बच्चों की हुई मौत

वेब खबरिस्तान। बागपत में खड़ी एक कार मौत का कारण बन गई। दरअसल पांच बच्चे खेलते हुए कार के अंदर पहुंच गए। अचानक कार का सेंट्रल लाक लग गया और बच्चे उसी में फंस गए। दम घुटने से चार बच्चों की मौत हो गई। जबकि एक को गंभीर हालत में नर्सिंग होम में भर्ती करावाया गया। उनके परिवारवालों ने कार मालिक पर बच्चों की हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा किया और चार घंटे तक शव नहीं उठने दिए। एसडीएम व सीओ ने जब आश्वासन दिया, उस के बाद पुलिस ने बच्चों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेजे। परिवार तलाशने पहुंचा तो बेहोश पाया हैप्पी के पास टाटा टिगोर कार है। ग्रामीणों के अनुसार सुबह दस बजे कार को चालक हैप्पी घेर (वह स्थान जहां पशु बांधने के साथ वाहन खड़े किए जाते हैं) में खड़ा करके चला गया, लेकिन लाक करना भूल गया। कुछ देर बाद पांच बच्चे खेलते हुए वहां पहुंच गए और कार में बैठ गए। बच्चों की ओर से कार के सभी दरवाजे बंद करने से सेंट्रल लाक लग गया और बच्चे कार में बंद हो गए। शीशे भी बंद थे इसलिए उनकी आवाज तक बाहर नहीं आ सकी। काफी देर तक जब बच्चे दिखाई नहीं दिए तो 3 बजे परिवार वाले उन्हें तलाशते हुए घेर पहुंचे। शीशे से कार के अंदर देखा तो उनके होश उड़ गए। कार में पांचों बच्चे बेहोश पड़े थे। तभी कार मालिक का छोटा भाई अंकुर ट्रैक्टर लेकर वहां पहुंचा और उसने तुरंत खिड़की का शीशा तोड़कर बच्चों को कार से बाहर निकाला। संदीप की आठ वर्षीय बेटी नियति व चार वर्षीय वंदना, विकास के आठ वर्षीय बेटे अक्षय तथा चार वर्षीय बेटे कृष्णा की मौत हो चुकी थी। प्रशांत के आठ वर्षीय बेटे शिवांग की सांस चल रही थी। उसे नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया।

https://webkhabristan.com/crime/4-children-died-in-locked-car-1733
गर्लफ्रेंड को महंगे गिफ्ट देने के लिए दूसरों की जान से खिलवाड़

गर्लफ्रेंड को महंगे गिफ्ट देने के लिए दूसरों की जान से खिलवाड़

वेब खबरिस्तान। कोरोना दौर में कुछ लोग पीड़ित लोगों की मदद करने के बजाय उनकी जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। केवल पैसों के लालच में मरीजों की जान जोखिम में डाल रहे हैं। घटना इंदौर की है। यहां एक आरोपी ने पानी भर कर टोसिलिजुमैब (टोसी) के इंजेक्शन ढाई-ढाई लाख में बेच दिए, ताकि वह अपनी गर्लफ्रेंड को खुश कर सके। उसके पास जैसे-जैसे पैसे आते गए, उसने घर के लिए कूलर, फ्रिज, अलमारी और मोबाइल के साथ सालभर का राशन खरीद लिया। उसने अपनी गर्लफ्रेंड के लिए हजारों के कपड़े खरीद लिए और बहुत सारे गिफ्ट भी दिए। लॉकडाउन खुलने के बाद वह अपनी गर्लफ्रेंड को घुमाने ले जाने वाला था। रासुका के तहत कार्रवाई होगी इंदौर पूर्व के एसपी आशुतोष बागरी ने बताया - पानी भरकर टोसिलिजुमैब के इंजेक्शन बेचने के मामले में पकड़े 29 वर्षीय सुरेश यादव के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की जाएगी। सुरेश ने ये कबूला कि वह पांच लोगों को दो से ढाई लाख रुपए में इंजेक्शन बेच चुका है। एक पीड़ित ने थाने में बताया था कि आरोपी ने उसे टोसी का इंजेक्शन बताकर ढाई लाख रुपए में पानी का इंजेक्शन बेचा है। एसआई बनी नकली ग्राहक तो पकड़ में आया आरोपी एसआई प्रियंका शर्मा ने सोशल मीडिया ग्रुप इंदौर स्मार्ट सिटी पर टोसी इंजेक्शन की डिमांड डाली , तभी आरोपी ने उनसे चैट की। मंगलवार को आरोपी ने प्रियंका को विजय नगर में राधेश्याम पहलवान के घर के पास मिलने के लिए बुलाया। थाने के जवान भरत को ऑटो ड्राइवर बनाया और एसआई ग्राहक बनकर गईं। मौके पर आरोपी ने रुपए की थैली लेकर प्रियंका से कहा कि जल्दी से चले जाओ नहीं तो पुलिस आ जाएगी। इसी दौरान पुलिस ने उसे पकड़ लिया। आरोपी को यह नहीं मालूम था कि जिसे वह इंजेक्शन दे रहा है वह खुद ही पुलिस स्टाफ है।

https://webkhabristan.com/crime/to-gift-his-girlfriend-a-man-puts-other-lives-in-danger-1689
अस्पताल के बाहर पड़े दस्ताने धोकर पैक करने वाली फैक्ट्री का हुआ भंडाफोड़

अस्पताल के बाहर पड़े दस्ताने धोकर पैक करने वाली फैक्ट्री का हुआ भंडाफोड़

वेब खबरिस्तान। गाजियाबाद के लोनी में ट्रानिका सिटी थाना पुलिस ने अस्पताल के बाहर पड़े दस्ताने इकट्ठे कर उन्हें धोने के बाद पैक करने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। फैक्ट्री से 50 हजार जोड़ा दस्ताने बरामद किए गए हैं। थाना प्रभारी निरीक्षक उमेश पवार ने बताया कि हमें ट्रानिका सिटी औद्योगिक क्षेत्र स्थित एक फैक्ट्री में सर्जिकल दस्ताने धोकर पैक किए जाने की सूचना मिली । पुलिस टीम ने फैक्ट्री में छापेमारी की। पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में अपने नाम गुड्डू उर्फ जहीर अहमद, अजीम अहमद निवासी भजनपुरा दिल्ली और मोहम्मद परवेज निवासी चावड़ी बाजार लाल कुआं दिल्ली बताए। पुलिस ने उन्हें जेल भेज दिया। भागीरथ पैलेस दिल्ली में बेचते थे पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह अस्पताल के बाहर से सर्जिकल दस्ताने इक्कठे करते थे। वाशिंग मशीन में धुले सर्जिकल दस्तानों को पैक कर उन्हें भागीरथ पैलेस दिल्ली में बेच देते थे। ऑनलाइन डीलिंग भी करते थे। उनके खिलाफ महामारी संशोधन अधिनियम 2020, पर्यावरण संरक्षण 1986, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 और अन्य संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। आरोपी के मां व बहन की हो चुकी है मौत आरोपी परवेज की मां और बहन दोनों कोरोना संक्रमित पाई गई थीं। इससे दोनों की मौत हो गई थी। इसके बावजूद वह अपने साथियों के साथ मिलकर अन्य लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहा था। तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। एसपी ग्रामीण ईरज राजा ने बताया कि गैंग में कुछ अन्य लोगों के शामिल होने की आशंका है। अस्पताल स्टाफ की मिलीभगत के बिना इतने सर्जिकल दस्ताने मिल पाना असंभव है।

https://webkhabristan.com/crime/police-breaks-the-nexus-of-factory-packing-used-gloves-1684
कोविड शवों के अंतिम संस्कार के एवज में वसूल रहे 15 हजार

https://webkhabristan.com/crime/taking-charges-from-the-family-of-corona-deceased-1587
छात्रा दुष्कर्म व हत्या  मामले में नीलू दोषी करार, 11 मई को सुनाई जाएगी सजा 

छात्रा दुष्कर्म व हत्या  मामले में नीलू दोषी करार, 11 मई को सुनाई जाएगी सजा 

वेब खबरिस्तान। शिमला में कोटखाई के बहुचर्चित छात्रा दुष्कर्म व हत्या मामले में बुधवार को जिला एवं सत्र न्यायालय ने आरोपी नीलू उर्फ अनिल को दोषी करार दिया है। सजा 11 मई को सुनाई जाएगी। न्यायाधीश राजीव भारद्वाज की स्पेशल कोर्ट ने सुनवाई 16 अप्रैल को पूरी कर ली थी। बुधवार दोपहर दो बजकर 53 मिनट पर सुनवाई शुरू हुई। आठ मिनट में न्यायालय ने नीलू को दोषी करार दे दिया। नीलू कंडा जेल से ऑनलाइन जुड़ा था। न्यायाधीश ने नीलू से कहा कि उसे हत्या व दुष्कर्म का दोषी माना जाता है। हालांकि नीलू इन्कार करता रहा। अब नीलू की सजा पर फैसला 11 मई को बहस के बाद सुनाया जाएगा। मामले में आरोपित को सरकार की ओर से लीगल एड सेवा ने वकील नियुक्त किया है। जिला अदालत में इस मामले को किसी भी वकील ने न लडऩे का फैसला लिया था। 2017 का मामला चार जुलाई, 2017 को कोटखाई की छात्रा स्कूल से लौटते वक्त लापता हो गई थी। छह जुलाई को कोटखाई के जंगल में उसका शव मिला था। मामले में छह आरोपी पकड़े गए थे। आरोपी सूरज की कोटखाई थाने में 18 जुलाई 2017 की रात हत्या कर दी गई थी। पुलिस का आरोप है कि राजू की सूरज से बहस हुई और राजू ने उसकी हत्या कर दी। हालांकि बाद में मामले में नया मोड़ आया था और सीबीआइ ने पुलिस की ओर से आरोपी बनाए गए लोगों को क्लीनचिट दे दी थी। अप्रैल 2018 को नीलू को हिरासत में लिया था। मामले में सीबीआइ ने 55 गवाहों के बयान दर्ज किए हैं।

https://webkhabristan.com/crime/student-murder-1555
हजरत निजामुदीन में सरेआम आठ महीने की गर्भवती पत्नी और युवक को मारी गोली

हजरत निजामुदीन में सरेआम आठ महीने की गर्भवती पत्नी और युवक को मारी गोली

वेब खब्रिस्तान, नई दिल्ली । दिल्ली में लॉकडाउन के बीच सनसनीखेज वारदात सामने आई है। हजरत निजामुद्दीन इलाके में सरेआम आठ महीने की गर्भवती महिला और एक युवक को गोली मार दी गई। ये पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। इस घटना में महिला की मौत हो गई तो जबकि युवक की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने इस केस में आरोपी को अरेस्ट कर लिया है। उसकी पहचान वसीम के तौर पर हुई, जो मृतक का पति है। साइना की शादी एक साल पहले वसीम से हुई थी डीसीपी साउथ ईस्ट डिस्ट्रिक आरपी मीणा ने बताया कि मृतक साइना 24 अप्रैल को ही एनडीपीएस केस में प्रेग्नेंसी ग्राउंड पर जमानत पर बाहर आई थी। वह आठ महीने की गर्भवती थी। साइना की शादी एक साल पहले वसीम से हुई थी। एनडीपीएस एक्ट के मामले में साइना जेल चली गई तो वसीम के रिश्ते रेहाना से बन गए। रेहाना साइना की सगी बहन है। घायल शहादत का इलाज चल रहा मंगलवार सुबह सूचना मिली हजरत निजामुदीन इलाके में एक युवक और महिला को गोली मार दी गई है। दोनों घायलों को अस्पताल ले जाया गया। सफदरजंग अस्पताल में डॉक्टरों ने घायल साइना को मृत घोषित कर दिया। वहीं घायल शहादत का अभी इलाज चल रहा है। सीसीटीवी फुटेज में दिखाई देता है आरोपी महिला को कई गोली मारता है, हवा में फायर करता है और लोगों को पिस्टल दिखा डराता है। कुछ देर वहीं मौके पर खड़े होने के बाद आरोपी पैदल चला जाता है, जिसके बाद मौके पर लोग जमा होते हैं।

https://webkhabristan.com/crime/hazrat-nizamuddin-crime-1520
बैंक के गेट पर व्यापारी को गोली मारकर लूटे 30 लाख

बैंक के गेट पर व्यापारी को गोली मारकर लूटे 30 लाख

राजस्थान की वारदात, बाइक पर आए बदमाश फरार वेब खबरिस्तान। राजस्थान के टोंक जिले के निवाई में वीरवार को बैंक के बाहर व्यापारी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई। बदमाश व्यापारी से 30 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए। गंभीर रूप से घायल व्यापारी की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई। वारदात के बाद पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के लिए नाकेबंदी की मगर कोई सफलता नहीं मिली। निवाई के झिलाय रोड पर कोटक महिंद्रा ​​​​​बैंक के बाहर सत्यनारायण खंडेलवाल करीब 30 लाख रुपए लेकर जैसे ही बाहर निकले। इसी दौरान बाइक पर तीन बदमाश उनके पास आकर रुके। गेट पर ही बदमाशों ने व्यापारी से बैग छीनने की कोशिश की। उन्होंने विरोध किया तो बदमाशों ने उनकी सीने पर गोली मार दी। गोली लगने के बाद सत्यानारायण वहीं गिर गए। बदमाश रुपए का बैग लेकर बाइक पर फरार हो गए। ये पूरी वारदात दो मिनट में हो गई। सत्यनारायण कृषि मंडी में अनाज की दुकान चलाते थे। नकाब बांधकर आए थे बदमाश तीनों बदमाश चेहरे पर नकाब पहनकर आए थे। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि बाइक नई स्प्लेंडर थी, जो बिना नंबर की थी। वारदात के बाद निवाई शहर में दहशत फैल गई। हजारों लोग घटनास्थल पर और अस्पताल पहुंच गए। पुलिस को भीड़ हटाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। ​​​​​एसपी ओमप्रकाश और एडिशनल एसपी सुभाष चंद्र मिश्रा मौके पर पहुंचे। वारदात से नाराज मंडी के व्यापारियों ने किसानों से माल लेना बंद कर दिया। इसके बाद किसान भड़क गए। नाराज होकर किसानों ने जिला रोड पर ट्रैफिक जाम कर दिया। व्यापारियों और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस ने जाम खुलवाया।

https://webkhabristan.com/crime/robbery-outside-bank-businessman-short-dead-in-tonk--328