Birth Anniversery: सुशांत सिंह राजपूत की कुछ फिल्में सिखाती हैं कि जिंदगी में हार न मानना



काबिलियत और मेहनत के दम पर छोटे पर्दे से लेकर बॉलीवुड तक में एक अलग पहचान बनाई थी सुशांत सिंह राजपूत ने

वेब ख़बरिस्तान। अभिनेता सुशांत राजपूत ने बहुत ही कम समय में अपनी काबिलियत और मेहनत के दम पर छोटे पर्दे से लेकर बॉलीवुड तक में एक अलग पहचान बनाई थी। उन्होंने अपने अभिनय से सिर्फ टीवी या बॉलीवुड इंडस्ट्री में ही नहीं बल्कि अपनी सादगी से पूरी दुनियाभर के लोगों के दिलों में भी अलग जगह बनाई थी, लेकिन कहते हैं न, कि अच्छे इंसानों की जरुरत ऊपर वाले को भी होती है। आपको बता दें इस अभिनेता ने बहुत ही कम उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे। इस खबर ने इंडस्ट्री से लेकर फैंस तक सभी को हैरान कर दिया था। लेकिन आज 21 जनवरी को सुशांत सिंह राजपूत की बर्थ एनिवर्सरी है। उन्होंने बॉलीवुड में कई फिल्में की और अपने शानदार अभिनय के लिए पहचाने गए। आईये जानते हैं उनसे जुड़े कुछ खास बातें।

बॉलीवुड करियर की शुरुआत कब की

सुशांत सिंह राजपूत ने अपना बॉलीवुड करियर फिल्म काय पो छे! से की थी। यह मूवी फरवरी 2013 में रिलीज हुई थी। ये फिल्म लेखक चेतन भगत के नॉवेल 'द 3 मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ' पर आधारित है, जिसका निर्देशन अभिषेक कपूर द्वारा किया गया था। 'काई पो चे' में सुशांत के अभिनय की सभी ने काफी तारीफ की थी। इस फिल्म में उनके साथ अमृता पूरी लीड रोल में थी। वहीँ सुशांत की साल 2016 में आई फिल्म एम एस धोनी उनके करियर की पहली फिल्म थी जिसने सौ करोड़ का कलेक्शन किया था। इस फिल्म में अभिनय करने के लिए सुशांत सिंह राजपूत को खूब वाहवाही मिलने के साथ ही कई पुरस्कार भी मिले थे। ये फिल्म भारतीय क्रिकेटर एम एस धोनी की बियोपिक थी। बॉलीवुड में वह एक डिटेक्टिव के रोल में भी नजर आ चुकें हैं। आपको बता दें उन्होंने फिल्म ब्‍योमकेश बख्‍शी में लीड रोल किया था। यह फिल्म 3 अप्रैल 2015 को रिलीज हुई थी। ब्‍योमकेश बख्‍शी के रूप में उनके अभिनय को दर्शकों द्वारा काफी प्रशंसा भी मिली थी।

कुछ फ़िल्में जो जरुर देखनी चाहिए

सुशांत सिंह राजपूत की कुछ फ़िल्में हैं जो हमें जरुर देखनी चाहिए। उनकी फिल्मों से हमें बहुत सी सीख मिलती है साथ ही उनकी फ़िल्में हमें कभी न हारना भी सिखाती हैं। हालांकि वह खुद अपनी जिंदगी से हार कर इस दुनिया को अलविदा बोल कर चले गये। आईये जानते हैं उनकी कुछ खास फ़िल्में जो हमें बहुत सी सीख देती हैं।

एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी


सुशांत सिंह राजपूत का करियर इस फिल्म से बिलकुल ही बदल गया था। इस फिल्म के बाद वो एक सुपरस्टार बन गए थे। सुशांत सिंह राजपूत के करियर का टर्निंग प्वाइंट ये फिल्म साबित हुई थी। वहीँ इस फिल्म में एक महान क्रिकेटर एम एस धोनी की जिंदगी के बारे में बताया गया है। एक चीज़ जो इस फिल्म से हम सीख सकते हैं वो ये है कि भले ही कोई कितना भी बड़ा स्टार और सेलेब क्यों न हो उसकी जिंदगी में हमेशा ऐसे मोड़ आते हैं जब वो खुद को हारा हुआ महसूस करता है। करियर में ढलान, प्यार का छिन जाना, जिंदगी का स्ट्रगल आदि बहुत कुछ होता है जिसके साथ हमें जीना पड़ता है। हम अगर इन सब बातों को पीछे छोड़कर आगे नहीं बढ़े तो जिंदगी बहुत ही मुश्किल हो जाएगी।

छिछोरे

इस फिल्म की शूटिंग के दौरान भी सुशांत डिप्रेशन से गुजर रहे थे। सुशांत ने इस फिल्म में डिप्रेशन के खिलाफ लड़ने और परिवार के प्यार और सपोर्ट की सीख दी है। इस फिल्म में एक इंसान की  जिंदगी में कितने उतार-चढ़ाव आ सकते हैं और डिप्रेशन जैसा दानव किस तरह जिंदगी में घर कर सकता है ये सब कुछ इस फिल्म में देखने को मिलता है। ये बेहद खूबसूरत फिल्म है जो हमें बताती है कि हम जिंदगी में किस तरह से आगे बढ़ सकते हैं और परिवार का साथ मिले तो बहुत बड़ी मुश्किल भी हल की जा सकती है।

दिल बेचारा

ये सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म थी और इस फिल्म में वो एक मरते हुए इंसान की जिंदादिली के बारे में बता रहे थे। इस फिल्म में उनकी अदाकारी बेमिसाल थी। इस फिल्म में दिखाया गया है कि जिंदगी जितनी भी है उसे जीने के दो तरीके हो सकते हैं। या तो निराश होकर जियो और अपने अंत का इंतज़ार करो या फिर जिंदादिली से जियो। इस फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत ने हंसाया भी है और रुलाया भी है। फिल्म बहुत ही खूबसूरती के साथ आगे बढ़ते हुए हमें बताती है कि सांसे जब तक रुक नहीं जाती हैं तब तक जिंदगी चलती रहती है। 

 

 

 

Related Links