अभिनेत्री श्वेता तिवारी को सेशन कोर्ट से मिली अग्रिम जमानत

अभिनेत्री श्वेता तिवारी व अभिनव कोहली

अभिनेत्री श्वेता तिवारी व अभिनव कोहली



टीवी अभिनेत्री श्वेता तिवारी को फर्जी हस्ताक्षर मामले में कोर्ट से राहत मिल गई है

वेब खबरिस्तान। टीवी अभिनेत्री श्वेता तिवारी को फर्जी हस्ताक्षर मामले में कोर्ट से राहत मिल गई है। दरअसल उनपर पति अभिनव कोहली ने फर्जी हस्ताक्षर के आरोप लगाए थे। पिछले दिनों श्वेता तिवारी खतरों के खिलाड़ी 11 की शूटिंग के लिए केपटाउन गई थीं। तब अभिनव ने वीडियो जारी कर आरोप लगाए थे कि श्वेता बेटे रेयांश को अकेले किसी होटल में छोड़कर चली गई हैं। उन्होंने कहा था कि जब उन पर फर्जी हस्ताक्षर का केस चल रहा है तो वो विदेश कैसे जा सकती हैं।

साल 2017 में दर्ज हुआ था केस


इंडिया फोरम ने सूत्रों के हवाले से लिखा है, ये बात सही है कि साल 2021 में श्वेता के खिलाफ साल 2017 में नाबालिग बेटे रेयांश को यूके ले जाने के लिए बनवाए गए वीसा के एनओसी में फर्जी हस्ताक्षर करवाने का केस दर्ज करवाया गया था। लेकिन सेशन कोर्ट को ये थोड़ा अजीब लगा, चूंकि साल 2017 में ही अभिनव ने श्वेता को बेटे रेयांश को यूके ले जाने के लिए एक दूसरे एनओसी में अपना साइन करके रजामंदी दी थी।

अभिनेत्री श्वेता तिवारी अपने बेटे रेयांश के साथ 

तो 2021 में क्यों करवाई शिकायत

अगर श्वेता ने फर्जी हस्ताक्षर करवाए थे तो अभिनव ने दूसरे एनओसी में अपने साइन क्यों किये। अगर श्वेता ने साल 2017 में फर्जी हस्ताक्षर करवाए तो उसकी शिकायत अभिनव ने 2021 में क्यों करवाई। इन बातों को ध्यान में रखते हुए सेशन कोर्ट ने श्वेता को अग्रिम जमानत दे दी है।

रेयांश की कस्टडी को लेकर लड़ाई जारी

साल 2019 में श्वेता तिवारी और अभिनव कोहली अलग हो चुके हैं। दोनों के बीच बेटे रेयांश की कस्टडी हासिल करने की लड़ाई जारी है। अभिनव की ओर से सोशल मीडिया पर काफी वीडियोज शेयर कर आरोप लगाए हैं कि वो बेटे को उनसे नहीं मिलने देतीं और उसे छिपाकर रखती हैं। इन आरोपों के बाद मई में श्वेता तिवारी ने भी एक वीडियो शेयर की थी जिसमें अभिनव, रेयांश को श्वेता की गोद से खींचते नजर आ रहे थे।

Related Links