अमिताभ ने कविता सुनाई - हम लड़ेगें, साथ आएंगें व जीतेंगे



अमिताभ बच्चन ने कोरोना की दूसरी लहर के बीच 'होप' पर एक मैसेज शेयर किया

वेब खबरिस्तान। अमिताभ बच्चन ने कोरोना की दूसरी लहर के बीच 'होप' पर एक मैसेज शेयर किया। उन्होंने सभी से अपील की - भारत के लिए एक साथ खड़े होने और वायरस से लड़ने की। उन्होंने वीडियो में 'होप' पर एक कविता सुनाई।

शब्दों से ज्यादा काम करना मायने रखता है

अमिताभ बच्चन ने कहा - होप कोई स्ट्रेटजी नहीं है। शब्दों से ज्यादा काम करना मायने रखता है। हां, यहां पर कुछ निश्चित तर्क नहीं है लेकिन, जैसा कि कई बुद्धिमान संतों का कहना है कि आशा एक शुरुआत नहीं है, इसे कभी-कभी ज्यादा इस्तेमाल किया गया है और हम होप का सही मतलब भूल जाते हैं। हां, होप अकेले एक स्ट्रेटजी नहीं है। लेकिन जब होप हमारे कार्यों को दिशा देती है तो बड़ी चीजें भी संभव हो जाती हैं।

कोविड वॉरियर्स का स्वार्थ हीन सबूत देखने को मिला

उन्होंने कहा- हर दिन हम कहानियां सुनते हैं कि लोग साथ आकर एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं। हर दिन हमें लोगों के निडर साहस, फ्रंटलाइन वर्कर्स और कोविड वॉरियर्स का स्वार्थ हीन सबूत देखने को मिलता है। हर दिन अंधेरा रोशनी में बदलता है क्योंकि लोग साथ आना और साथ खड़े होना चुनते हैं।" पोस्ट की कैप्शन में लिखा, ''हम लड़ेगें, साथ आएंगें और जीतेंगे !"

Related Links